चंदौली। जिन जेलों में बाहुबली और कुख्यात अपराधी निरुद्ध हैं वहां विशेष चौकसी के निर्दश हैं। कारागार महकमे के अलावा पुलिस-प्रशासन सतत निगरानी के दावे करताहै। बावजूद इसके देवरिया जेल जहां बाहुबली अतीक अंसारी मौजूद हैं वहां धडल्ले से मोबाइल ही नहीं चल रहे बल्कि वीडियों कालिंग के जरिये हत्या सरीखी सनसनीखेज वारदात को अंजाम देने के निर्देश दिये जा रहे हैं। यह चौंकाने वाला खुलासा मुगलसराय पुलिस की गिरफ्त में असलहा समेत आये दो शूटर्स की गिरफ्तारी के बाद हुआ है। पूछताछ के दौरान युवकों की शिनाख्त तरियासुजान (कुशीनगर) के सिट्टू उर्फ नंद किशोर और कमलेश के रुप में हुई। दोनों ने पुलिस को बताया कि देवरिया जेल में बंद बाबर गैंग का सरगना अजय यादव और रवींद्र पटेल ने उन्हें वाराणसी के एक सभासद को मारने के लिए तीन लाख की सुपारी दी थी। एसपी संंतोष सिंह ने यह जानकारी देवरिया पुलिस को दी तो गैंग के सरगना के पास जेल में मिले मोबाइल से आरोपों की पुष्टि हुई।

तीन लाख में ली थी पार्षद की सुपारी

एसपी के मुताबिक इंस्पेक्टर मुगलसराय शिवानंद मिश्र और क्राइम ब्रांच की टीम ने दारानगर के सपा पार्षद मनोज यादव की हत्या की साजिश का खुलासा किया है। इस मामले में गिरफ्तार दोनों शूटरों के पास से .32 बोर की पिस्टल, एक तमंचा, 8 जिंदा कारतूस और एक चोरी की मोटरसाइकिल बरामद हुई है। ये दोनों शूटर बाबर गैंग के मुख्य सरगना अजय यादव के निर्देश पर वारदात को अंजाम देने की खातिर कुशीनगर से वाराणसी जा रहे थे। कुख्यात बदमाश अजय यादव ने सपा पार्षद की हत्या के लिए तीन लाख की सुपारी दी थी। दोनों शूटरों को मनोज यादव का फोटो और साइकिल रैली में मनोज यादव किस रास्ते से लखनऊ जाएगा, उसका रोड मैप भी दिया गया था। इस साजिश की निगरानी फोन के जरिये देवरिया जेल में बंद बाबर गैंग का सरगना अजय यादव बराबर कर रहा था। गिरफ्तारी और बरामदगी में शामिल टीम को एसपी की तरफ से 20 हजार का इनाम दिया गया है।

admin

No Comments

Leave a Comment