चंदौली। सूबे में सरकार बनने के बाद से अपने विवादित बयानों को लेकर चर्चा में रहने वाले कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश राजभर अब सीधे सीएम पर आरोप लगा रहे हैं। एक निजी कार्यक्रम में शामिल होने के लिए आये मंत्री ने शनिवार को सूबे के सीएम पर संगीन आरोप लगाये हैं। ठेठ भाषा में उनका कहना था कि जिसे मालिक बनाया जाता है तो परोसने की जिम्मेदारी मिलने पर वह अपने खास लोगों को ही पूड़ी परोसता है। ओमप्रकाश यहीं नहीं रुके बल्कि यहां तक कह डाला कि पिछली सपा-बसपा की सरकारों की तर्ज पर मौजूदा सीएम भी अपने खास लोगों को थाने से लेकर तहसीलों, ब्लाकों जैसे अहम स्थानों पर पैरवी से ही भर रहे हैं। दशा यह है कि हर जगह खास लोगों को नियुक्त किया जा रहा है। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से इसकी शिकायत के मांग की गयी है कि सभी दलित, पिछड़े तथा समाज में हर वर्गो का सामान अधिकार दिया जाना चाहिए ताकि सबकी हिस्सेदारी हो सके। बावजूद इसके कुछ नहीं हो रहा है।

गनीमत है फेंके पत्थर-टमाटर, बम नहीं

इसी तरह जौनपुर में मीडिया से बातचीत में उन्होंने आवास पर टमाटर-पत्थर फेंकने वालों पर निशाना साधा। उनका कहना था कि गनीमत है केवल पत्थर और टमाटर ही फेंके हैं। भला बम नहीं फोड़े हैं। कुछ ऐसे लोग है जिनका शराब का ही धंधा चलता है। पीएम मोदी जब गुजरात में सीएम रहे तो वहां शराब बंद की। पड़ोसी राज्य बिहार में भी शराब की बंदी है तो उत्तर प्रदेश में शराब की प्रतिबंधित क्यों न किया जाए। हमारी पार्टी सत्ता में गठबंधन में है तो यहां पर भी शराब को पूरी तरह से प्रतिबंधित किया जाना चाहिए। आवास पर पथराव करने वाले शरारती तत्वों के खिलाफ एक्शन लेना चाहिए। लखनऊ पहुंचने पर बताया जाएगा क्या कार्यवाही की जानी चाहिये।

admin

No Comments

Leave a Comment