भदोही। सीएम की शपथ लेने से पहले योगी कई बार सांसद चुने जा चुके हैं। उच्च शिक्षा प्राप्त ही है। किसी तरह के भ्रष्टाचार के आरोप नहीं हैं। बावजूद इसके पहली बार आम आदमी पार्टी के टिकट पर विधायक बनने वाली अलका लांबा की नजर में वह जाहिल हैं। कालीन नगरी में मगलवार को अपने पार्टी के प्रत्यासी के पक्ष में नुक्कड़ सभा करने पहुंची अलका लंबा ने सीएम योगी पर विवादित टिप्पणियां की। उनका कहना था कि सीएम योगी आदित्यनाथ को गवर्नेंस की जानकारी नहीं है इसलिए उन्हें माला लेकर हिमालय पर चले जाना चाहिए। सूबे के विकास को लेकर योगी सरकार पर हमलावर हुई अलका लम्बा ने कहा की जो व्यक्ति गोरखपुर से कई बार सांसद रहा हो और वर्तमान में सूबे का सीएम होने के बावजूद बीआरडी अस्पताल की व्यवस्थाएं ठीक न कर सके और उसके कारण वहां मासूम बच्चों की मौत हो तो ऐसे सीएम को वो जाहिल मानती हैं।

सपा-कांग्रेस के प्रति साफ्ट कार्नर, भाजपा पर हमलावर
मीडिया से बातचीत करने के दौरान अलका लांबा का सपा-कांग्रेस के साथ बसपा के प्रति भी साफ्ट कार्नर दिखा। जिस तरह केजरीवाल के निशाने पर मोदी रहते है उसी तर्ज पर अलका सिर्फ भाजपा पर हमलावर हुई। पद्मावती फिल्म को लेकर छिड़े विवाद पर लम्बा ने कहा की सीएम शिवराज सिंह चौहान और सीएम योगी आदित्यनाथ के बीच राष्ट्र माता को लेकर ठन गयी है। शिवराज सिंह जहां पद्मावती को राष्ट्रमाता बताने पर तुले हुए हैं वहीं योगी आदित्यनाथ गौमाता को राष्ट्र माता घोषित कराने पर तुले हैं लेकिन हमारी पार्टी को इस फिल्म से कोई मतलब नहीं है, इस फिल्म पर सेंसर बोर्ड को अपना फैसला लेना चाहिए।

admin

No Comments

Leave a Comment