गजब: सरकार से लेते हैं ‘मदद’ और साथ में जमकर ‘खिलाफत’, खुफिया विभाग को मिले चौंकाने वाले इनपुट

वाराणसी। नागरिकता संशोधन विधेयक (सीएए) के साथ एनसीआर को लेकर देश् के कई हिस्सों में विरोध प्रदर्शन चल रहा है। देश की राजधानी दिल्ली में तो शाहीन बाग पर पांच हफ्ते से सड़क को ब्लाक कर रोजाना हजारों लोगों को आने-जाने से रोक दिया गया है। पीएम मोदी का संसदीय क्षेत्र काशी भी इससे अछूता नहीं हैं। यह बात दीगर है कि यहां से आंदोलन की खुफिया विभाग ने बारीकी से तहकीकात तो चौंकाने वाली जानकारियां सामने आयी। लंबे समय से सरकार से धन के साथ ‘रुआब’ और ‘रुतबा’ हासिल करने वाले केन्द्र और प्रदेश सरकार के खिलाफ अांदोलन की रणनीति बनाने में जुटे थे। इतना ही नहीं कांग्रेस से जुड़े एक संस्थान से मोटी रकम भी रणनीतिकारों में से एक के एनजीओ को मिली थी।

ज्यूनाइल जस्टिस बोर्ड की मेंबर थी जागृति!

गौरतलब है कि चौक इंस्पेक्टर की तरफ से 23 जनवरी को दिल्ली के शाहीन बाग की तर्ज पर बेनिया मैदान पर कब्जा कर अनवरत हंगामा करने के बाबत जो रिपोर्ट दर्ज करायी गयी है उसमें रणनीतिकारों में जागृति राही का नाम है। खुफिया सूत्रों की माने तो जागृति राही ज्यूनाइल जस्टिस बोर्ड की मेंबर थी 15 दिसंबर तक। एक्सटेंशन के लिए प्रयासों में कोई कमी नहीं थी। सम्भवत: यही कारण था कि वह 19 दिसंबर के कार्यक्रम में खुल कर सामने नहीं आयी आयी थी। राजीव गांधी फाउंडेशन से उनके एनजीओ विजन और सद्भावना मिशन को धन मिलता है। प्रियंका वाड्रा के कार्यक्रम में जागृति ने खुल कर अगुवाई की थी जिसका नतीजा था कि पुरनिया कांग्रेसियों से विवाद हुआ था। लंबे समय से आंदोलन से जुड़े लोगों को आरोप था कि वामपंथियों ने आला कमान को ‘हाईजैक’ कर लिया है।

केन्द्र सरकार से पैसा लेते रहे अनूप!

इतना ही नहीं 19 दिसंबर के मामले में अनूप श्रमिक जेल गये थे। अनूप के बाबत खुफिया विभाग की पड़ताल में पता चला है कि उन्होंने न सिर्फ पीएचडी की है बल्कि पोस्ट डायरेक्टेट फेलोशिप भी लेते रहे हैं। खास यह कि इंडियन कौंसिल आॅफ सोशल रिसर्च ‘आईसीसीएसआर’ से उन्हें फेलोशिप मिलती रही जो केन्द्र सरकार के मानव संसाधन विभाग का एक संस्थान है। प्रियंका के कार्यक्रम में भी अनूप की बढ़-चढ़ कर हिस्सेदारी थी। इस बाबत एसएसपी प्रभाकर चौधरी का कहना है कि यह विवेचना का हिस्सा नहीं है कि किसे कहां से फेलोशिप मिलती थी। अलबत्ता जो रिपोर्ट होगी संबंधित तक भेज दी जायेगी।

Related posts