जौनपुर। इंसानियत को शर्मसार करने वाली तस्वीर सामने आई है जिले के शाहगंज इलाके में। अस्पताल के दरवाजा पर एक महिला प्रसव पीड़ा से जूझ रही थी लेकिन डॉक्टरों और नर्स ने उस महिला को भर्ती लेने से इसलिए मना कर दिया क्योंकि उसके पास बैंक पासबुक और आधार कार्ड नहीं था। महिला के परिजन अस्पताल कर्मचारियों के हाथ पांव जोड़ते रहे लेकिन उन्हें रहम नहीं आई। आखिरकार महिला ने अस्पताल के बाहर ही एक बच्ची को जन्म दिया।

मीडिया में पहुंचा मामला तो महिला को किया भर्ती

इस बीच जब मामले ने तूल पकड़ा तो डॉक्टर हरकत में आए। आनन फानन में महिला को अस्पताल में भर्ती किया गया। खबरों के अनुसार शाहगंज में फैजाबाद रोड स्थित दादर पुल के नीचे खानाबदोश परिवार के लोग जीवन यापन करते हैं। इसी परिवार के अजय नट की पत्नी चंदा (24) को प्रसव पीड़ा होने पर सोमवार को दोपहर परिजन महिला को लेकर राजकीय अस्पताल पहुंचे। आरोप है कि ड्यूटी पर तैनात महिला डॉक्टर डा. शोभना दुबे ने प्रसूता का आधार कार्ड व बैंक खाता मांगा। परिजनों ने बताया कि न तो उनके पास बैंक का कोई खाता है और न ही आधार कार्ड बना है। इस पर महिला डॉक्टर ने महिला को भर्ती करने से इनकार कर दिया।

चिकित्साधिकारी की सफाई
शाहगंज राजकीय अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डा. डीएस यादव का कहना है कि महिला को जिला अस्पताल के लिए रेफर किया गया था। गेट पर पहुंचते ही उसे प्रसव हो गया। अस्पताल से उसे कोई नहीं भगाया।

admin

No Comments

Leave a Comment