वाराणसी। मीरजापुर जेल में निरुद्ध अरबपति एआरटीओ आरएस यादव के खिलाफ दर्ज मुकदमों की विवेचना कर रही विजलेंस को चौंकाने वाली जानकारियां मिल रही हैं। मंगलवार को विजलेंस ने आरएस यादव के सीए एसके द्विवेदी को पूछताछ के लिए बुलाने के साथ सुलगते सवालों की फेरहिस्त सौंपी है। दरअसल आरएस यादव की दो बैंक एचडीएफसी और एक्सिस बैंक के खातों में जो पता दिया गया था वह प्रशांतपुरी (डीआईजी कालोनी) स्थित एसके द्विवेदी का है। आरएस यादव के जेल जाने के बाद बैंक में प्रार्थनापत्र देकर दोनों का पता बदला गया है। यही नहीं आरएस यादव की कंपनियों में एसके द्विवेदी की पत्नी सुषमा द्विवेदी और पुत्र अमन शेयर होल्डर हैं। बताया जाता है कि विजलेंस ने प्रश्नों को लिखित रूप में इस खातिर सौंपा हैं क्योंकि उसके पास इससे संबंधित ठोस साक्ष्य आ चुके हैं।
ईडी भी सीए को कई बार बुला चुकी है पूछताछ को
गौरतलब है आरएस यादव की काली कमाई की जांच प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) को भी सौंपी गयी है। ईडी ने आरएस यादव के पुत्र अपूर्व यादव के अलावा जिसे पूछताछ के लिए बुलाया था वह सीए एसके द्विवेदी थे। लखनऊ में उनसे कई राउंड पूछताछ हो चुकी है। इस बीच आरएस यादव के खिलाफ चंदौली में दर्ज तीन मामलों की विवेचना कर रही विजलेंज को पता चला कि आरएस यादव के जेल जाने के बाद दो बैंक खातों के पते बदले गये हैं।
आरबिट कंपनी के शेयर होल्डर की तलाश
इस बीच विजलेंस आरएस यादव की एक कंपनी आरबिट के शेयर होल्डर की पड़ताल में जुटी है। कंपनी में 20 शेयर होल्डर हैं लेकिन मशक्कत के बाद 11 का ही पता चल सका है। आरएस ादव के परिवार के सदस्य और एसके द्विवेदी की पत्नी-पुत्र के मिलने पर भी 9 के बारे में कोई जानकारी नहीं मिल पा रही है। विजलेंस का मानना है कि कुछ शेयर होल्डर फर्जी बी हो सकते हैं। एसपी विजलेंस शिवशंकर सिंह ने स्वीकार किया कि सीए एसके द्विवेदी को बुलाया गया था और लिखित प्रश्न सौंपे गये हैं जिसका उत्तर उन्हें देना है।

admin

No Comments

Leave a Comment