सुपुर्दगारों निकले ‘तस्कर’ तो कार्रवाई की जद में आये दरोगा-इंस्पेक्टर, आधा दर्जन के खिलाफ दर्ज हुई रपट

मीरजापुर। पूर्वांचल के विभिन्न जनपदों में पशु तस्करी में पकड़े गये गोवंश को अमूमन पुलिस सुपुर्दगी में सौंप कर कर्तव्य से इतिश्री मान लेती है। इन दिनों ऐसा भी गिरोह सक्रिय हो गया है जो थानों में पकड़े गये गोवंश को फिर से ‘वध’ की खातिर बेच देता है।दो माह पहले अदल हाट में पकड़े गये गोवंश के मामले में एडीजी बृज भूषण ने जांच करायी तो चौंकाने वाले खुलासे हुए। गिरफ्तारीव विधिक कार्यवाही में लापरवाही मिलने पर इंस्पेक्टर अदलहाट राजेश कुमार वर्मा तथा एसआई राजेश कुमार चौबे के विरूद्ध विभागीय कार्यवाही के आदेश दिये गये हैं। इसके साथ ही आधा दर्जन ‘सुपुर्दगारों’ के खिलाफ रपट दर्ज करते हुए चार को गिरफ्तार कर लिया गया है।

गुमनाम शिकायत पर खुलीपोल

गौरतलब है कि 9 अगस्त को अदल हाटमें कन्टेनर को रोका गया तो गोवंश मिले थे। बरामद बैलों मेंसे 3 की चोट आने से उपचार के दौरान मौत हो गयी। शेष 17 बैलों को कांजी हाऊस या किसी संस्था को सुपुर्द न कर अगले दिन जनता के 6 सुपुर्दगारों क्रमष: मुन्नी लाल, परदेशी , सुड्डू, विकास तथा सोनू रामपुर-चमरही बबुरी (चंदौली) और शुभम गुप्ता को बिना उनका नाम-पता तस्दीक कराये सुपुर्द कर दिया गया। इस संबंध में अज्ञात व्यक्ति ने एडीजी के संज्ञान में लाया गया कि जिन सुपुर्दगारों को बैल सुपुर्द किया गया है, वे पशु तस्कर हैं, जिनके द्वारा बैलों की बिक्री कर दी गयी है।

एसपी की जांच में सामने आया ‘सच’

एडीजी ने एसे गंभीरता से लेते हुए एसपी चन्दौली को निर्देशित किया था कि आप बैलों को सुपुर्द किये गये व्यक्तियों के सम्बन्घ में जानकारी करके 17 बैलों की वर्तमान स्थिति से अवगत करायें। जांच में साफ हुआ कि वर्तमान में बैल उनके पास नहीं है तथा सभी की बिकी्र की जा चुकी है। डीआईजी विंध्याचल रेंज के माध्यम से प्रकरण की प्रारम्भिक जांच में भी इंस्पेक्टर अदलहाट तथा दरोगा द्वारा बरामद षुदा बैलों को कांजी हाऊस या किसी संस्था को सुपुर्द नकर जनता के सुपुर्द गारों के नाम-पता, पेशा आदि की जान कारीकिये बिना ही उन्हें सुपुर्द कर दिये जाने के दोषी पाये जाने पर एडीजी द्वारा उनके विरूद्ध विभागीय कार्यवाही कर दण्डित करने एवं सुपुर्दगारों के पास बैल मौजूद नहीं होने के विरूद्ध सुसंगत धाराओं में अभियोग पंजीकृत कराये जाने हेतु निर्देषित किया गया।

Related posts