मांगे थे पान के ‘दाम’ तो मनबढ़ों ने ले ली जान, वारदात के एक दिन बाद पुलिस ने किया चौंकाने वाला खुलासा

मऊ। लक्ष्मी माता मंदिर के सामने (कोपागंज) में पान विक्रेता की क्रूरतापूर्वक की हत्या का मामला पुलिस के लिए बड़ी चुनौती था। वारदात को किसी ने देखा नहीं था और मृतक अशोक चौहान की किसी से रंजिश नहीं थी। एसओ कोपागंज की टीम ने सोमवार को दो लोगों को गिरफ्तार कर मामले के खुलासे का दावा किया है। आरोपितों के पास से वारदात में प्रयुक्त लोहे की अंकुड़ी भी बरामद हुई है। आरोपितों ने बारदात के पीछे जो वजह बतायी उसे सुनकर पुलिस भी हैरत में रह गयी।

पैसा मांगते हुए पीछा कर लिया था

गिरफ्तार संतोष कुमार और दिनेश कुमार नवासीगण खजुरी की निशानदेही पर घटना में प्रयुक्त आला कत्ल लोहे की अंकुड़ी बरामद कर कड़ाई से पूछताछ की गयी तो उन्होंने जुर्म कबूल किया। अपना जुर्म स्वीकार करते हुए बताया गया कि लक्ष्मीनगर चौराहे पर स्थित मृतक की पान की गुमटी हम दोनों पान खाने के लिए गये थे। पैसे को देने की बात को लेकर अशोक से हम लोगों से विवाद हो गया। हम लोग विना पैसे दिये ही अपने घर जाने लगे। मृतक अशोक भी पैसा मांगते हुए हम लोगो के पीछे पीछे लक्ष्मी मन्दिर के पास तक आ गया और पैसा न देने की बात को लेकर गाली देने लगा। इस पर मुझे गुस्सा आ गया मैं अपने हाथ में लिये लोहे की अकुड़ी उसके सर पर चला दिया जिससे वह लहुलुहान हो गया। मेरे साथी दिनेश कुमार ने उसके सीने व पेट पर वार किया जिससे वह जमीन पर गिर कर मर गया।

Related posts