वाराणसी। छेड़छाड़ और हिंसा के नाम पर लगने वाली सामाजिक बंदिशों के खिलाफ बनारस की बेटियों ने अब मोर्चा खोल दिया है। शनिवार की आधी रात जब लोग नींद के आगोश में थे तो बनारस की ये बहादुर बेटियां एक पैगाम लेकर सड़कों पर निकली। लड़कियों ने लंका से लेकर अस्सी तक मार्च निकाला और हमे किसी से डरने की जरूरत नहीं। रात भी अपनी है और सड़क भी। बंदिशों के नाम पर उन्हें रात में सड़कों पर निकलने से अब रोका नहीं जा सकता।

पुरूषवादी मानसिकता के खिलाफ छेड़ी जंग
प्रदर्शन करने वाली लड़कियों का गुस्सा लिंगभेद को लेकर था। उनका कहना था कि जब देर रात लड़कों को बाहर निकलने की इजाजत है तो हमें क्यों नहीं। जहां तक सुरक्षा की बात है तो ये सरकार की जिम्मेदारी है। प्रदर्शन की अगुवाई कर रही स्वाती सिंह ने बताया कि पुरूषवादी मानसिकता के खिलाफ उनका आंदोलन अब रुकने वाला नहीं है। इसकी लौ आगे भी जारी रहेगी। हाथों में तख्ती लिए लड़कियों का काफिले को देख आधी रात लोग भी दंग रह गए।

admin

No Comments

Leave a Comment