‘प्रशिक्षण’ के लिए हरियाणा गये लेकिन लॉकडाउन के बाद वहीं फंसे, एसपी ने दी दखल तो आधे घंटे में ही मिली मदद

चंंदौली। कोरोना महामारी के चलते पूरा देश लॉकडाउन की स्थिति में है। जो जहां हैं वहीं फंस गया। प्रिंट और इलेक्ट्रानिक्स के संग सोशल मीडिया पर ऐसे लोगों की ‘गुहार’ सामने आ रही है। ऐसे में एसपी हेमंत कुटियाल ने मदद करने में कोई कोर-कसर नहीं छोड़ी हैै। एक दिन पहले रेल ट्रैक से समस्तीपुर (बिहार) जाने वालों का भोजन से लेकर यात्रा का प्रबंध करने वाले आईपीएस अफसर हरियाणा में प्रशिक्षण हेतु गये युवाओं की सहायता की गुहार का वीडियो वायरल होते देख फिर से प्रयास किये। उन्होंने न सिर्फ एसपी हिसार (हरियाणा) गंगा राम पुनिया से तत्काल फोन पर बात कर बच्चों को आवश्यक सहायता उपलब्ध कराने का आग्रह किया बल्कि समूचे माले पर नजर रखी। नतीजा, एसपी हिसार ने एएसपी रैंक के अफसर को मौके पर भेज कर बच्चों के लॉकडाउन रहने तक रहने-खाने की व्यवस्था की।

मदद तत्काल, बच्चे हुए निहाल

गौरतलब है कि पालिटेक्निक कालेज चन्दौली से चन्दौली, सोनभद्र, मऊ, सुल्तानपुर, भदोही के रहने वाले 10 छात्रों का ग्रुप एग्रीकल्चर प्रशिक्षण हेतु हिसार स्थित प्रशिक्षण संस्था में ट्रैक्टर प्रशिक्षण के लिए पहली मार्च को गया था। प्रशिक्षण के दौरान भारत सरकार ने वैश्विक महामारी कोरोना के कारण पूरे देश को लॉकडाउन कर दिया गया। बच्चे प्रशिक्षण संस्थान में ही फंस गये। अपनी सहायता व सहयोग हेतु सोशल मीडिया पर एक वीडियो डाला लेकिन फौरी सहायता ही उन्हें भी उम्मीद नहीं थी। इसके बाद तो निहाल होते हुए उन्होंने फिर से सोशल मीडिया पर इसकी जानकारी दी।

Related posts