लखनऊ। विवेक तिवारी इस भ्रष्ट एवं बेईमान व्यवस्था के शिकार हो गये। जिस प्रकार से उन्हें गोली मारी गई और अपराधी पूरे ठाठ से मीडिया से बात कर रहा था, इससे पता चलता है कि प्रदेश में कानून व्यवस्था नाम की कोई चीज नही है। अखिल भारतीय प्रगतिशील ब्राह्मण परिषद की ओर से सोशलिस्ट नेता पंखुड़ी पाठक और तनुज पाण्डेय ने स्व. विवेक तिवारी की पत्नी तथा बच्चों से मुलाकात के बाद भाजपा सरकार को खरी-खरी सुनायी। इस दौरान पंखुड़ी पाठक ने कहा कि विवेक तिवारी इस भ्रष्ट एवं बेईमान व्यवस्था के शिकार हो गये। जिस प्रकार से उन्हें गोली मारी गई और अपराधी पूरे ठाठ से मीडिया से बात कर रहा था, इससे पता चलता है कि प्रदेश में कानून व्यवस्था नाम की कोई चीज नही है।

फर्जी मुठभेड़ के नाम पर मारे जा रहे निरपराध

वहीं दूसरी ओर तनुज पाण्डेय ने कहा कि सरकार फर्जी मुठभेड़ के नाम पर निरपराध लोगों को मार रही है। इसका नमूना है जितेन्द्र यादव जिसको नाम पूछकर गोली मार दी गयी थी। इसकी वजह से आज वह अपाहिज की जिंदगी जीने को मजबूर हैं। मुकेश राजभर हों चाहे सुमित गुर्जर या फिर विवेक तिवारी, इन सब की हत्या में एक ही मानसिकता देखी जा सकती है। रामराज्य के नाम पर जंगल राज की स्थिति पूरे यूपी में बन गई है। उन्हें ढ़ांढ़स बंधाया और कहा कि इस दु:ख की घड़ी में ब्राह्मण परिषद उनके परिवार के साथ है। प्रतिनिधि मंडल में यतीन्द्र पांडेय, परशुराम सेना के विनय तिवारी और मंगल पांडेय सेना के दिव्यांशु तिवारी आदि लोग उपस्थित रहे।

admin

No Comments

Leave a Comment