पुलिस के हत्थे चढ़ा शातिर ठग, ऑनलाइ फ्रॉड करने के लिए सीखा थीं 9 भाषाएं

वाराणसी। टेक्नोलॉजी जितनी तेजी से बढ़ी है, ऑनलाइन ठगी के मामलों में भी उतना ही इजाफा देखने को मिल रहा है. खासतौर से एटीएम को लेकर धोखाधड़ी के मामलों बढ़े हैं. ऑनलाइन फ्रॉड करने वालों पर पुलिस ने शिकंजा कसना शुरू कर दिया है. इसी के तहत वाराणसी पुलिस ने एक ऐसे फ्रॉड को गिरफ्तार किया है, जो नौ भाषाओं का जानकार है और देश के अलग-अलग हिस्सों में लोगों से धोखाधड़ी कर चुका है.

यूपी के कई जिलों में था वांछित

शिवपुर थानाध्यक्ष विश्वनाथ प्रताप सिंह मीरापुर बसही इलाके में गश्त पर थे. तभी क्राइस्ट नगर अण्डर पास उन्हें सूचना मिली कि ATM बदल कर लोगों का पैसा निकालने वाला एक फ्रॉड भी इलाके में ही मौजूद है. थानाध्यक्ष के मुताबिक आरोपी के खिलाफ वाराणसी, चन्दौली व प्रतापगढ़ के कई थानों में मुकदमे दर्ज हैं. वाहन चेकिंग के दौरान ही बाइक सवार एक शख्स आता दिखाई दिया. पुलिस ने उसे रुकने का इशारा किया तो उसने बाइक की रफ्तार बढ़ा दी. पीछा करने पर उसने तमंचे से फायर भी किया. हालांकि गोली मिस हो गई. पकड़े गए आरोपी का नाम आफताब खान उर्फ रिक्की खान है. उसके ऊपर 25 हजार रुपए का ईनाम घोषित था. तलाशी में पुलिस ने उसके पास से एक तमंचा, 2 कारतूस, 2 मोबाइल और अलग-अलग बैंकं के 5 एटीएम बरामद किए.

नौ भाषाओं का जानकार है फ्रॉड

पुलिस के मुताबिक पकड़ा गया आरोपी नौ भाषाओं का जानकार था. हिंदी, अंग्रेजी के अलावा क्षेत्रीय भाषाओं पर भी इसकी अच्छी पकड़ थी. अब तक ये लगभग डेढ़ सौ लोगों को अपना शिकार बना चुका है. इसका एक साथी जून महीने में गिरफ्तार हुआ था. पुलिस के मुताबिक आरोपी हास्पिटल, स्कूल, कॉलेज और सरकारी दफ्तरों के बाहर लोगों को निशाना बनता था. इसका दूसरा गैंग मुंबई में सक्रिय है.

Related posts