वाराणसी। फर्जीवाड़ा कर लोगों को चूना लगाने वाले जालसाज पुलिस के हत्थे चढ़ते रहते हैं लेकिन मंगलवार को एंटी टेररिस्ट स्क्वाएड और शिवपुर पुलिस के हत्थे ऐसा शातिर चढ़ा जिसने अपनी से लेकर प्रेमिकाओं तक को नहीं छोड़ा। मूल रूप स भागलपुर (बिहार) निवासी कामरान रजा शहर के साथ अपना नाम बदल कर दूसरा रख लेता था। खुद को एसबीआई का ब्रांच मैनेजर बताते हुए उसने एक के संग विवाह किया जबकि आधा दर्जन के संग प्रेम संबंध बनाने हुए उनका भी यौन शोषण किया। गिरफ्तार जालसाज के पास से तलाशी में दर्जनों आईकार्ड,एसबीआई बैंक के मैनेजर का एक फर्जी आईकार्ड,एक लैपटाप, तीन मोबाइल, 1.71 लाख रुपये नगदी,सोने की चैन समेत दूसरे सामान बरामद हुए हैं। शिवपुर पुलिस ने आईपीसी की धारा 417, 419,420,467,468 व 471 के तहत मुकदमा कायम करते हुए जालसाज को जेल भेज दिया।

नौकरी से लेकर कर्ज दिलाने के नाम पर की वसूली

आरम्भिक जांच में पचा चला कि सेंट्रल जेल रोड पर स्थित सुभद्रा नगर कालोनी में अविनाश कुमार सिंह नाम से रहने वाला वास्तव में कामरान रजा है। कामरान एक शातिर जालसाज रहता है जो निरीह लोगो को बैंक में नौकरी और कर्ज दिलाने के नाम पर मोटी रकम वसूलता है। बदले नाम से उसने एक हिन्दू लड़की से भी शादी कर ली। गिरफ्तारी के बाद आरोपित ने कबूल किया किया कि वह 31 लाख से अधिक की वसूली कर चुका है। मंगलवार को भी वह पांच लाख लेने की खातिर निकला था लेकिन पुलिस के हत्थे चढ़ गया। पत्नी और प्रेमिकाओं ने उसकी हकीकत जानी तो सिर पीट लिया। उन्हें भी नहीं पता था कि यह दूसरे धर्म का है और बैक मैनेजर के बदले जालसाजी करने वाला है।

admin

No Comments

Leave a Comment