वाराणसी। आगामी 11 फरवरी को शहर में अखिलेश यादव और राहुल गांधी के प्रस्तावित रोड शो को लेकर चल रहे तमाम कयासों पर विराम लग गया है। दोनों ही पार्टियों की ओर से रोड शो को लेकर तमाम दावें किए जा रहे थे। लेकिन जिला प्रशासन की माने तो इसके लिए किसी तरह की परमिशन ही नहीं मांगी गई थी। एसएसपी नितिन तिवारी ने स्वीकार किया कि रोड शो के संबंध मे पुलिस के पास किसी तरह का प्रार्थना पत्र दिया ही नहीं गया था, तो ऐसे में रोड शो का सवाल ही नहीं उठता है।

सोशल मीडिया पर किए गए थे दावे

वाराणसी में अखिलेश और राहुल गांधी के रोड शो को लेकर पिछले दो दिनों से सोशल मीडिया पर तमाम दावे किए जा रहे थे। रोड शो के परमिशन से लेकर एसपीजी की मीटिंग तक की खबरें आ रही थी। सिर्फ इतना ही नहीं रोड शो का पूरा मैप भी तैयार कर दिया गया था। जबकि हकीकत में कुछ ऐसा हुआ ही नहीं। रोड शो के संबंध में जब अमृत प्रभात डॉट कॉम ने एसएसपी से जानकारी मांगी तो उन्होंने रोड शो के पूरे प्लान को हवा हवाई बताया । उनके मुताबिक रोड शो के लिए उनसे किसी तरह की परमिशन नहीं मांगी गई थी। यही नहीं दोनों ही पार्टी के किसी नेता ने इस ने भी संपर्क नहीं किया।

admin

No Comments

Leave a Comment