वाराणसी। योगीराज में यूपी के बाहुबलियों की मुश्किलें बढ़ने लगी हैं। बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी के बाद अब अतीक अहमद पर भी योगी सरकार का शिकंजा कसने लगा है। अतीक अहमद को नैनी जेल से देवरिया शिफ्ट कर दिया गया है। वहीं दूसरी ओर बांदा जेल में बंद मुख्तार के करीबी गोरा राय और आलम सिंह को भी दूसरी जेलों में स्थानांतरित कर दिया गया है।

पूर्वांचल के बाहुबलियों में हड़कंप

सपा सांसद अतीक अहमद के ऊपर आरोप है कि उन्होंने इलाहाबाद के एक कॉलेज में अपने समर्थकों के साथ शिक्षकों के साथ मारपीट की थी। इसी मामले में वो नैनी जेल में बंद हैं। योगी सरकार के सत्ता में आते ही सबसे पहले मुख्तार अंसारी पर शिकंजा कसा गया और अब उनके करीबी अतीक अहमद पर सरकार की नजरें टेढ़ी हो गई है। सूत्रों के मुताबिक देवरिया जेल में अतीक अहमद पर कड़ी निगरानी रखी जाएगी। एक के बाद बाहुबलियों को दूसरे जेलों में ट्रांसफर की खबरें सामने आने के बाद पूर्वांचल में चर्चाएं तेज हैं।

मुख्तार गैंग के शूटर भी दूसरी जेल भेजे गए

दूसरी ओर लखनऊ से बांदा जेल पहुंचे मुख्तार अंसारी को शुक्रवार को भी बड़ा झटका लगा। मुख्तार के जेल में पहुंचने के पहले ही उनकी करीबी आलम सिंह को बांदा से बिजनौर जेल भेज दिया गया। वहीं गोरा राय को रामपुर कारागार स्थानांतरित कर दिया गया। बताया जा रहा है कि जेल के चारों ओर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच विधायक की बैरक में सीसीटीवी कैमरे लगा दिए गए हैं। बांदा जेल में मुख्तार अंसारी चौथे बाहुबली नेता और विधायक होंगे। इससे  पहले बसपा सरकार में कुंडा विधायक राजा भैय्या यहां कई महीनें बंद रहे। इलाहाबाद के बाहुबली अतीक अहमद भी इस जेल की सलाखों के पीछे दिन काट चुके हैं। उधर, शीलू बलात्कार कांड के आरोपी नरैनी से बसपा विधायक पुरुषोत्तम नरेश द्विवेदी का कार्यकाल भी जेल में बीता।

admin

No Comments

Leave a Comment