वाराणसी। शहरी विकास मंत्री सुरेश खन्ना ने पेयजल योजनाओं में हीलाहवाली करने वाले जल निगम के तीन अधिकारियों को सस्पेंड करने का आदेश दिया है। दरअसल सुरेश खन्ना ने 518 करोड़ की लागत से शुरू हुई पेयजल परियोजना के आठ साल बाद भी जनोपयोगी न बन पाने के मामले में शनिवार को  सख्त रुख अपनाया। बार-बार हिदायत के बाद भी पेयजल योजना का काम पूरा नहीं होने पर सुरेश खन्ना ने जल निगम के एक्सईएन एके सिंह समेत तीन और अभियंताओं को निलंबित कर दिया। साथ ही, सेवानिवृत्त हो चुके मुख्य अभियंता आरके द्विवेदी के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने का निर्देश दिया।

समीक्षा बैठक के बाद की कार्रवाई

नगर विकास मंत्री ने अपनी पिछली समीक्षा बैठक के दौरान इसी मामले में एक्सईएन सुरेंद्र कुमार को निलंबित किया था। भ्रष्टाचार और मानक-गुणवत्ता की अनदेखी के शिकायतों से घिरी इस पेयजल परियोजना में इस बड़ी कार्रवाई से अधिकारियों से अभियंताओं तक हड़कंप मच गया है।

admin

No Comments

Leave a Comment