बलिया। जयप्रकाश नगर (बैरिया) की नई बस्ती दलजीत टोला गांव में शुक्रवार की रात लक्ष्मण प्रजापति के घर उज्जवला योजना के तहत मिले एलपीजी सिलेंडर परिवार के लिए ‘काल’ बन गये। एक के बाद एक कर दोनों सिलेंडर में हुए ब्लास्ट से कमरे की छत उड़ गयी जबकि दीवारे फट गयी। परिवार के एक दर्जन से अधिक लोग घायल हो गये। आनन फानन मे ग्रामीणों व प्रधान की मदद से सभी को सीएचसी सोनबरसा ले जाया गया जहां प्राथमिक उपचार के बाद डाक्टरों ने जिला अस्पताल रेफर कर दिया। जिला अस्पताल में चिकित्सकों ने पूनम देवी पत्नी इन्दल प्रजापति (20) को मृत घोषित कर दिया जबकि शेष 13 घायलों में चार की हालत चिन्ताजनक बनी है।

पहला सिलेंडर फटा तो दहल गये लोग

लक्ष्मण प्रजापति के घर पीएम की उज्जवला योजना के तहत गैस सिलेंडर आने के बाद उसी पर खाना बनने लगा था। शुक्रवार की रात महिलाएं खाना बना रही थी जबकि परिवार के अन्य सदस्य टीबी देख रहे थे, तभी तेज आवाज के साथ सिलिन्डर फट गया। इससे झोपड़ी व पक्के मकान में आग लग गयी। देखते ही देखते आग की लपटे बेकाबू हो गयी। अभी लोग संभलते तभी आग की चपेट में आने से घर मे रखा दूसरा सिलिन्डर भी ब्लास्ट कर गया। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक आवाज ऐसी हुई जैसे बम फटा। दुर्घटना के बाद सैकड़ों ग्रामीण जुट कर आग बुझाने लगे। सूचना मिलते ही एसओ गगन राज सिंह पहुंचे। हादसे मे पूनम देवी की मौत हो गयी जबकि इन्दल प्रजापति (20), राजेश प्रजापति (30), छोटक प्रजापति (22), रमायन प्रजापति (30), मुन्नी देवी (60) पत्नी सुबाष चन्द, फूल कुमारी (20) पत्नी छोटक, प्रियंका (10) पुत्री रमेश, राधिका (15) पुत्री सुभाष, लक्ष्मीना (3) पुत्री इन्दल, सरिता (11) पुत्री राजेश, लक्ष्मीना (25) पत्नी राजकिशोर, आदित्य (2) पुत्र इन्दल घायल हो गये।

admin

No Comments

Leave a Comment