टरबाइन में लगी आग से महीनों तक उत्पादन ठप होने के आसार, चार अभियंता झुलसे और करोड़ों का नुकसान

सोनभद्र। देश की पहली विद्युत परियोजना अनपरा डी प्लांट के 7वीं यूनिट में बुधवार को रहस्यमय ढंग से आग लगने से अफरातफरी मच गई। यूनिट के टरबाइन में आग लगी दी जिससे करोड़ों का नुकसान होने की आशंका जताई जा रही है। आगजनी में चार लोग जख्मी भी हो गये हैं। तकनीकी जानकारों का कहना है कि घटनाक्रम के चलते महीनों के लिये 7वीं इकाई का उत्पादन भी ठप हो गया है। बहरहाल कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया जा सका।

दोपहर बाद ब्लास्ट से सहमे लोग

अनपरा डी प्लांट 1000 मेगावाट है जिसकी यूनिट नम्बर 7 के टरबाइन जनरेटर में बुधवार दोपहर अचानक तेज ब्लास्ट के साथ आग लग जाने से पूरे परियोजना में हड़कंप मच गया है। देखते ही देखते तेज आग भड़क उठी जिससे टरबाइन जल कर खाक हो गयी। आग की लपटें इतनी तेज उठी कि प्लांट की ऊपरी सतह बादल में धुआं ही धुआं मंडराने लगा। अनपरा की यूनिट में आग लगने से उठते धुएं को देख आसपास को लोग दहशत में आ गए। विभाग ने आसपास की अनपरा क्षेत्र की बिजली आपूर्ति ठप कर दी है। यही नहीं 7वीं इकाई में आग लगने से 6वीं इकाई भी ट्रिप कर गयी जहां उत्पादन ठप हो गया।

नुकसान का हो रहा है आकलन

प्लांट में अफरा तफरी के माहौल में दमकल कर्मी आग बुझने के प्रयास में जुट गये लेकिन अन्दर टरबाइनों के फटने का डर बना रहा घंटो मशक्कत के बाद आग पर काबू पा लिया गया हैं । आग से जहां करोड़ो की क्षति बतायी जा रही है, वहीं 7वीं इकाई बहाल करने में महीनों का समय लग सकता हैं ।

Related posts