गाजीपुर। अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव के लिए सियासी मैदान सजने लगा है। एक ओर जहां बीजेपी डिजिटल प्लेटफॉर्म के जरिए तैयारियों में जुटी है तो दूसरी ओर समाजवादी पार्टी परंपरागत तरीके से मतदाताओं को लुभाने की कोशिश में है। उत्तर प्रदेश में अपने कार्यकतार्ओं में फिर से जान फूंकने के लिए पार्टी समाजवादी पार्टी साइकिल का सहारा ले रही है। इसी के तहत समाजवादी पार्टी की ओर से सामाजिक न्याय एवं लोकतंत्र बचाओ-देश बचाओ साइकिल यात्रा की शुरूआत हुई। सपा सांसद धर्मेंद्र यादव ने सोमवार को गाजीपुर हरी झंडी दिखाकर साइकिल यात्रा को रवाना किया।

मिशन दिल्ली के लिए रवाना हुई साइकिल यात्रा

यूपी के पूर्वी छोर गाजीपुर से शुरू हुई साइकिल यात्रा का अंतिम पड़ाव दिल्ली है। कार्यक्रम के मुताबिक 23 सितंबर को राजधानी के जंतर-मंतर पर जाकर यात्रा समाप्त होगी। इस दौरान साइकिल यात्रियों का जत्था यूपी के अलग-अलग शहरों, कस्बों व गांव में ठहरकर वहां के निवासियों से भेंटकर समाजवादी पार्टी की नीतियों, कार्यक्रमों तथा अखिलेश यादव की समाजवादी सरकार के समय अमल में लाई गईं बड़ी-बड़ी योजनाओं और कार्यों की जानकारी देगा। प्रदेश के विकास कार्यक्रमों की वर्तमान स्थिति का भी आंकलन करेगा। प्रतिदिन साइकिल यात्रा की शुरूआत में सामाजिक न्याय पर चर्चा भी होगी।

टिकट के दावेदारों में मची होड़

साइकिल यात्रा के दौरान गाजीपुर से टिकट के दावेदर साइकिल की सवारी करते नजर आए। हर कोई धर्मेंद्र यादव की नजरों में आना चाहता था। ये नेता लग्जरी साइकिल के जरिए अपना स्टेटस भी दिखाते दिखे। साइकिल यात्रा का आयोजन एमएलसी रामवृक्ष सिंह यादव के नेतृत्व में हुआ।साइकिल यात्रा में समाजवादी युवजन सभा के पूर्व राष्ट्रीय सचिव संतोष यादव ने अपने सैकड़ों समर्थकों के साथ शामिल हुए और साइकिल यात्रियों के साथ सैदपुर तक की यात्रा पूरी की। माना जा रहा है कि साइकिल यात्रा के जरिए सपा प्रमुख अखिलेश यादव यूपी में पार्टी की नब्ज टटोलना चाहते हैं। बताया जा रहा है कि अगर सब कुछ ठीक रहा तो कार्यकर्ताओं की साइकिल यात्रा के बाद अखिलेश यादव अक्टूबर से खुद साइकिल यात्रा पर निकल सकते हैं।

admin

No Comments

Leave a Comment