वाराणसी। लाइलाज रोग बन चुके ट्रैफिक जाम के समाधान के लिए यातायात पुलिस नित नये प्रयोग करती है। सुर्खियों में आने की खातिर बाइक से चक्कर लगाने से लेकर दूसरे फोटो सेशन भले हो लेकिन हालात बदतर होते जा रहे हैं। अपने अधिकारियों को तो किसी तरह मैनेज कर लिया जाता था लेकिन कमिश्नर दीपक अग्रवाल के सामने पूरी तरह से पोल-पट्टी खुल चुकी है। कमिश्नर मंगलवर की सुबह खुद सड़क पर उतरे थे तो ‘सच्चाई’ से सामना हो गया। सुबह उन्होंने खुद खड़े होकर अतिक्रमण हटवाने के साथ चालान कराया था। शाम को अपने कैम्प कार्यालय सभागार में शहर की यातायात व्यवस्था सहित अन्य बुनियादी अवस्थापना सुविधा के बाबत विभागीय अधिकारियों के साथ बैठक के दौरान कमिश्नर ने खरी-खरी सुनायी।

आम नागरिक की तरह निकलेंगे सड़क पर

कमिश्नर ने चेताया है कि शहर की यातायात व्यवस्था को जांचने के लिए वह किसी भी दिन आम नागरिक की तरह बिना गाड़ी अर्दली एवं गनर के ही सड़क पर उतरेंगे। उन्होंने स्पष्ट शब्दों में कहा कि पिकेट पर तैनात पुलिस कर्मी किनारे बतकही करते पाए जाते हंै। स्वमं निरीक्षण के दौरान उन्होंने यह मंजर देखा है जिससे कही-सुनी पर विश्वास नहीं है। यही कारण है कि अब वह पैदल ही बिना गाड़ी बिना अर्दली एवं बगैर गाना सड़कों पर अतिक्रमण कर यातायात व्यवस्था का जायजा लेंगे। कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने शहर की यातायात व्यवस्था में सुधार हेतु 48 घंटे की मोहलत दिये जाने के बावजूद अब तक सन्तोषजनक सुधार न होने पर गहरी नाराजगी जताते हुए यातायात व्यवस्था में सुधार लाये जाने हेतु क्षेंत्रीय मजिस्ट्रेटों के साथ पुलिस क्षेत्राधिकारियों एवं थाना प्रभारियों को लगाये जाने हेतु डीएम एवं एसएसपी को निर्देशित किया। उन्होने शहर के चिन्हिंत 15 प्रमुख चौराहों पर बेतरतीब तरीके से आटो रिक्सा आदि खड़ा होने तथा पटरियों पर लगने वाले दुकानों को जाम का प्रमुख कारण बताते हुए इन चौराहो पर पिकेट एवं फेण्टम पुलिस लगाकर व्यवस्था सुधरवाने का निर्देश दिया। उन्होने विशेष रूप से जोर देते हुए कहॉ कि यातायात व्यवस्था में शीघ्र सुधार नही हुआ, तो जिम्मेदारी निर्धारित कर कड़ी कार्यवाही अवश्य किया जायेगा।

प्रमुख सड़को को घोषित करे नो वेडिंग जोन

कमिश्नर ने शहर की प्रमुख सड़को की पटरियों पर बेतरतीब तरीके से लगने वाले दुकानों के कारण लगने वाले जाम से जनसामान्य को राहत पहुंचाये जाने की खातिर प्रमुख सड़को को नो-वेण्डिग जोन घोषित किये जाने हेतु नगर आयुक्त को निर्देशित करते हुए कहा है। उनका मानना था कि पटरियों पर बेतरतीब तरीके से लगाने वाले दुकानदारों को जागरूक कर उन्हे पटरियों से सड़क पर बढ़ने से रोका जाय। ताकि उनकी रोजी-रोटी भी चलती रहे और यातायात भी प्रभावित न होने पाये। बैठक में डीएम योगेश्वर राम मिश्र, एसएसपी आरके भारद्वाज, नगर आयुक्त डा.नितिन बंसल, उपाध्यक्ष वीडीए राजेश कुमार, एसपी ट्रैफिक सहित लोनिवि, जलकल, विद्युत, जलनिगम के अभियंता प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।

admin

No Comments

Leave a Comment