वाराणसी। पिछले दिनों प्राधिकरण से बिना ले आऊट स्वीकृत कराये अवैध प्लाटिंग करने पर ध्वस्तिकरण की कार्यवाही के दायरे में आने वाले कालोनाइजरों के साथ वीडीए ने गुरुवार को एक महत्वपूर्ण बैठक का आयोजित की थी। वीसी राकेश कुमार ने स्पष्ट कर दिया कि शहर में अवैध कालोनियों की बढ़ती संख्या के कारण इसका स्वरूप बिगड़ने तथा अनियोजित विकास से शहरवासियों को मूलभूत नागरिक सुविधा उपलब्ध करा पाना मुश्किल हो रहा है। इस स्थिति पर अंकुश लगाने के लिए उपस्थित विकास कतार्ओं को ले आऊट स्वीकृत कराकर नियोजित विकास करने हेतु प्रोत्साहित किया गया तथा नियमानुसार हर प्रकार की मदद का आश्वाशन प्रदान किया गया। साथ ही अवैध रूप से विकसित हो रही कालोनियों पर लगातार ध्वस्तिकरण की कार्यवाही संपादित करते रहने के प्रति अपनी प्रतिबद्धता दोहराई।

वीडीए अपनाने जा रहा सेटेलाइट इमेजनरी

इसके अलावा सचिव विशाल सिंह समेत अभियंताओं और निजोयकों के साथ भी बैठक हुई। वीसी ने बताया कि प्राधिकरण डिजिटल मानचित्र (सेटेलाइट इमेजनरी) की व्यवस्था अपनाने जा रहा है। इसके द्वारा पूरे वाराणसी विकास प्राधिकरण क्षेत्र का डिजिटल मानचित्र डाटाबेस बनाया जाएगा। नियोजन अनुभाग को समस्त प्रवर्तन टीम को उनके क्षेत्र का विस्तृत डिजिटल मानचित्र उपलब्ध कराने हेतु आदेशित किया गया। यह नक्शा प्रवर्तन टीम हेतु रिफ्रेन्स मानचित्र होगा तथा कालोनियों को सूचीबद्ध करने का कार्य इन मानचित्रों पर मकानो को चिन्हित कर किया जाएगा। समस्त प्रवर्तन टीम को एक सप्ताह में वाराणसी विकास प्राधिकरण क्षेत्र के अंतर्गत विकसित हो चुकी समस्त कालोनियों को चिन्हित कर सूचीबद्ध करने हेतु आदेशित किया गया। कालोनियों को चिन्हित एवं वगीर्कृत जोनल तथा वार्ड वार किया जाएगा तथा समस्त मकानो को इसमे शामिल किया जाएगा। इस प्रकार के डिजिटल तकनीकी द्वारा वाराणसी विकास क्षेत्र में विकसित हो चुकी समस्त वैध और अवैध कालोनियों के संबंध में प्रमाणिक सूचना उपलब्ध होगी। हर दो दिन में वीसी खुद स्वयं इस कार्य के प्रगति समीक्षा करेंगे। अवैध कालोनियों को नियमित करने की अग्रिम कार्यवाही इस विस्तृत रिपोर्ट के आधार पर की जाएगी।

admin

No Comments

Leave a Comment