वाराणसी। एक पखवारे पहले ही नवंबर के अंतिम सप्ताह में विश्व हिन्दू परिषद ने अयोध्या में धर्मसभा कर के मंदिर निर्माण के लिए सरकार पर दबाव बनाने का प्रयास किया। इसकी चर्चा पुरे देश में हुई। एक बार फिर से वीएचपी ने राम मंदिर निर्माण के लिए हुंकार भरी हैं लेकिन ये तारीख 6 दिसम्बर है। विभिन्न हिन्दू संगठनों द्वारा जहां आज के दिन शौर्य दिवस मनाया जा रहा है तो वहीं वीएचपी ने राम मंदिर निर्माण के लिए यज्ञ का आरम्भ किया है। सोशल मीडिया पर तलवार लहराना भी वायरल हुआ। दूसरी तरफ मुस्लिम बाहुल्य इलाकों में काला दिवस मनाते हुए दुकानों को बंद रखा गया।

राम मंदिर निर्माण के लिए यज्ञ

इंग्लिशियां लाइन स्थित वीएचपी कार्यालय में गुरुवार को विशेष सरगर्मी देखी गयी। कार्यकतार्ओं ने जहां शौर्य दिवस को लेकर जय श्री राम के नारे लगाएं तो वहीं पदाधिकारियों ने राम मंदिर निर्माण के लिए संकल्प लिया। यहीं नहीं एक विशेष पूजन का आयोजन किया गया जिसके अंतर्गत राम मंदिर निर्माण के यज्ञ किया गया। इस यज्ञ के माध्यम से केंद्र सरकार के नाम से अग्नि में आहुति दी गयी ताकि उन्हें राम मंदिर निर्माण के लिए सद्बुद्धि आएं और वो जल्द ही मंदिर निर्माण के लिए अध्यादेश लाएं। इस यज्ञ में वीएचपी कार्यकतार्ओं के दर्जनों कार्यकर्ता और पदाधिकारी शामिल रहें।

दुकाने बंद रहने से लोग परेशान

उधर सराय हड़हा और दालमंडी में दुकाने बंद रहने से बाहर से आये खरीदारों का खासी परेशनी हुई। बंदी की उन्हें जानकारी नहीं थी और पूर्वांचल के कई जनपदों में यहां से सप्लाई होती है। हमेशा गुलजार रहने वाले बाजारों में सन्नाटा छाया रहा।

admin

No Comments

Leave a Comment