सोनी-राजा गैंग का यही था ‘उसूल’, मेला हो या जुलूस मोबाइल पार करना है जरूर

वाराणसी। किसी राजनैतिक दलकी रैली हो, धार्मिक आयोजन हिन्दू का हो या मुसलमान लेकिन खत्म होने के बाद पुलिस के पास सर्वाधिक शिकायतें मोबाइल चोरी की ही आती थी। इंस्पेक्टर भेलूपुर राजीव रंजन केनेतृत्व में लखराव मोड से चार संदिग्धों को दबोचा तो उनके पास से एक-दो नहीं बल्कि पूरे 40 मोबाइल बरामद हुए। गिरफ्तार चारो आरोपितों को सीओ भेलूपुर अनिल कुमार ने गुरुवार को मीडिया के सामने पेश किया तो उन्होंने चौंकाने वाले खुलासे किये। गिरोह के सरगना आसिफ जमाल उर्फ सोनी और खालिद जमाल उर्फ राजा के साथ चारों ने कबूल किया कि बरामद सभी मोबाइल चोरी की हैं। इसे हम लोग अलग-अलग भीड़-भाड़ वाले स्थान मेला, शिवाला के दुलदुल की जुलूस से चुराये थे।

बचने के लिए आईएमईआई मिटा देते थे

मुखबिर की सूचना परछापे मारी में पकड़े गये आसिफ जमाल उर्फ सोनी और खालिद जमाल उर्फ राजा के अलावा आशिफ और मोहम्मद मूसा का पुराना आपराधिक इतिहास रहा है। भीड़ में कीमती स्मार्ट फोन पार करने के बाद यह उसका आईएमईआई नंबर मिटा देते थे जिससे पकड़े जाने की संभावना न रहे। इस गिरोह ने अब तक सैकड़ों मोबाइल पार करने के बाद उसे उंची कीमत में बेचा है। पूछताछ में कुछ दुकानदारों और मरम्मत करने वालों के नाम भी प्रकाश में आये है जिनकी मदद से यह खेल किया जाता था। पुलिस इसकी गोपनीय ढंग से जांच कर रही है। 

Related posts