चंदौली। बैकों में अब किसी तरह का लेन-देन खाता धारक के मोबाइल पर आ जाता है। पिछले दिनों मंडल रेल प्रबंधक कार्यालय मुगलसराय के कार्मिक विभाग में कार्यरत चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी अनिल कुमार सिन्हा के साथ कुछ ऐसा हुआ कि वह सकते में रह गया। बैक खाते का मिनी स्टेटमेंट निकालने पर जिस रकम का ब्योरा था वह उसके शून्य नहीं गिन पा रहा था। जहानाबाद (बिहार) स्थित स्टेट बैंक आॅफ इंडिया के सेलरी एकाउंट में अचानक से 99.97 करोड़ रुपये आ गये। रातोंरात अरबपति बनने वाला अनिल बैंक खाते में इतने अधिक रुपये देख वह परेशान हो गया।

बैक ने मानी गलती, वापस ली रकम

हैरान-परेशान अनिल ने फौरन इसकी सूचना अपने बैंक मैनेजर को दी। सूचना मिलने के बाद खाते में आये 99.97 करोड़ रुपये बैंक ने गलती से क्रेडिट होने की बात कहकर वापस तो कर लिये लेकिन अनिल अभी भी इस बात को लेकर परेशान है कि अचानक से किसके खाते के रुपए उसके एकाउंट में ट्रांसफर हो गये। मूल रूप से जहानाबाद (बिहार) निवासी अनिल कुमार सिन्हा मंडल रेल प्रबंधक कार्यालय स्थित कार्मिक विभाग में आदेश पाल के पद पर कार्यरत है।

कुछ यूं रहा समूचा घटनाक्रम

अनिल के मुताबिक 11 जनवरी को वह एटीएम से रुपये निकालने गया तो उसके बैंक एकाउंट से रुपये नहीं निकले। पैसा होने के बावजूद न मिलने पर जब उसने मिनी स्टेटमेंट निकाला तो खाते में 99.97 करोड़ रुपये देखकर हैरत में रह गया। फर्जीवाड़े के मामलों को पढ़ने से वह परेशान हो गया। अधिकारियों और मित्रों को इसकी जानकारी देकर वह 3 फरवरी को छुट्टी लेकर अपने घर जहानाबाद गया। वहां बैंक मैनेजर को करोड़ों रुपये खाते में आ जाने की सूचना दी जिसके बाद मैनेजर ने खाते में गलती से गये रुपयों को वापस कर लिया। मैनेजर का कहना था कि लिपिकीय त्रुटि के चलते ऐसा हुआ है।

admin

No Comments

Leave a Comment