लखनऊ। मदरसों के जरिये आतंकवाद पनपने का आरोप लगाकर उन्हें बंद करने की पीएम मोदी से गुजारिश करना उत्तर प्रदेश शिया वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष वसीम रिजवी को भारी पड़ रहा है। रिजवी का दावा है इंटरनेशल डॉन दाुद इब्राहिम के गुर्गो ने फोन कर जान से मारने की धमकी दी है। रिजवी ने की शिकायत को गभीरता से लेते हुए सआदतगंज थाने में एफआईआर दर्ज कर ली गयी है। एफआईआर के मुताबिक दाऊद के गुर्गे ने फोन कर कहा, वह मौलवियों से माफी मांगे, अन्यथा पूरे परिवार को बम से उड़ा दिया जाएगा।

पीएम और सीएम को लिखा था पत्र

गौरतलब है कि शिया वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष ने 8 जनवरी को पीएम मोदी और प्रदेश के सीएम योगी को पत्र लिखकर मदरसों को ‘मानसिक कट्टरवाद’ को बढ़ावा देने वाला बताते हुए उन्हें स्कूल में तब्दील करने और उनमें इस्लामी शिक्षा को वैकल्पिक बनाने का अनुरोध किया था। पत्र में यह भी आरोप लगाया था कि मदरसों में गलत शिक्षा मिलने की वजह से वहां पढ़ने वाले धीरे-धीरे आतंकवाद की तरफ बढ़ते हैं। देश के अधिकांश मदरसे जकात में दिए गए धन से ही चल रहे हैं और यह धन बांग्लादेश और पाकिस्तान जैसे मुल्कों से भी आ रहा है। दशा यह है कि कुछ आतंकवादी संगठन भी मदरसों को आर्थिक मदद पहुंचा रहे हैं।

मदरसा बोर्ड खत्म करने की थी मांग

रिजवी ने पत्र में लिखा था केंद्र सरकार से अनुरोध है कि भारत में मदरसा बोर्डों को समाप्त कर सभी मदरसों को स्कूल की श्रेणी में तब्दील कर दिया जाये। ऐसे स्कूलों को राज्य शिक्षा बोर्ड, सीबीएससी और आईसीएसई बोर्ड से पंजीकृत कराया जाए। इसके जरिये मुस्लिम समाज के बच्चों को अपने निजी स्वार्थ और कट्टरपंथी मानसिकता के चलते मानसिक शोषण कर रहे कुछ संगठनों और कुछ मौलवियों की साजिश से बचाया जा सकेगा।

admin

No Comments

Leave a Comment