कुछ ऐसा बढ़ा ‘मोबाइल चोरी’ को लेकर विवाद कि युवक के संग पांच माह की मासूम को उतारा मौत के घाट

आजमगढ। मदारपुर चट्टी गांव (मुबारकपुर) में मोबाइल के विवाद को लेकर शुक्रवार की देर रात घर में घुसकर धारदार हथियार से साकिर (23) के संग उसकी पांच माह की पुत्री सुमयन को मौत के घाट उतार दिया। हमले में पत्नी जैनब (21) भी गंभीर रूप से जख्मी हो गयी है। घायल युवती को जिला अस्पताल भेजा गया जहां पर दशा चिन्ताजनक देख कर डाक्टरों ने ट्रामा सेंटर वाराणसी के लिए रेफर कर दिया। सनसनीखेज वारदात से पूरे इलाके में लोग सहमे हैं। पुलिस ने इस मामले में त्व्रत कार्रवाई करते हुए एक आरोपित को गिरफ्तार कर लिया है जबकि उसके साथियों की तलाश में दबिश दी जा रही है।

एक दशक से रहा था मृतक

मूल रूप से लोहता (वाराणसी) के महमूदपुरा गांव निवासी साकिर अपने परिवार संग पिछले एक दशक से मदारपुरचट्टी गांव में रह कर बुनकरी करता था। शुक्रवार को मोबाइल चोरी को लेकर एक आपराधिक प्रवृति के मनबढ़ से विवाद हुआ था लेकिन साकिर ने इसे गंभीरता से नहीं लिया। देर रात तीन की संख्या मे घुसे बदमाशों ने पूरे परिवार पर हमला बोल दिया। हमले में साकिर व उसकी पांच माह की पुत्री समियन की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि पत्नी जैनब गंभीर रूप से घायल हो गई। बताया जाता है कि बदमाशों ने फायरिंग करने के साथ धरदार हथियार से वार किये थे। बचाव की गुहार सुनकर आसपास के लोगों के जुटने तक हमलावर फरार हो चुके थे। पुलिस को सूचना देने के साथ जैनव को उपचार के लिए अस्पताल भेजा गया। नामजद पहले भी कई बार चोरी के मामले में जेल जा चुका है।

Related posts