वाराणसी। बनारस हिंदू युनिवर्सिटी एक बार फिर से सुर्खियों में है। ताजा मामला जुड़ा है महिला महाविद्यालय स्थित हॉस्टल में दिए जाने वाले भोजन को लेकर। हॉस्टल में मेस की मनमानी को लेकर छात्राओं के एक गुट ने आंदोलन छोड़ दी और कॉलेज के मेन गेट पर धरने पर बैठ गई। खबर मिलते ही बीएचयू के आला अधिकारियों के हाथ पांव फूलने लगे। आनन-फानन में छात्राओं से वार्ता का दौर शुरू हो गया।

मेस में मनमानी फीस को लेकर गुस्स

प्रदर्शन करने वाली छात्राओं के मुताबिक जनवरी में हम जितने दिन हास्टल में नहीं रहे उसकी भी हमसे मेस के लिए फीस ली जा रही है। छात्रा का आरोप है कि किसी को 100 रुपये तो किसी से 500 तो कोई 2000 रुपये तक देने को विवश हुआ है। छात्राओं के अनुसार हमारी क्लासेस 20 से 25 जनवरी के बाद शुरू हुईं ऐसे में हमें सिर्फ जनवरी तक छूट दी गयी।

हॉस्टल में नॉनवेज बनाने का मुद्दा भी उठा

इस दौरान छात्राओं ने मेस में नॉनवेज बनाने का मुद्दा भी उठाया जाता। छात्राओं के मुताबिक अभी भी बीएचयू में छात्र और छात्राओं के बीच भेद किया जा रहा है। आकांक्षा आजाद ने बताया कि हॉस्‍टल की छात्राओं को नॉनवेज नहीं दिया जाता। उसने मांग की कि विश्वविद्यालय की अन्य मेसों की तर्ज पर डाईट पे का रूल हमारी मेस में भी होना चाहिये। जब तक ऐसा नहीं होगा हम धरना देंगे।

admin

No Comments

Leave a Comment