वाराणसी। खरगूपुर गांव (जंसा) की मुस्लिम बस्ती में रास्ते के विवाद को लेकर दो पक्षों में हुई मारपीट पथराव के मामले में पुलिस की कार्रवाई सवालों के दायरे में आ गयी है। साथ ही पीड़ित पक्ष को ही थाने में बैठाकर प्रताड़ित करने का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। इस मामले में भाजपाइयों ने पीड़ित के साथ पुलिस के उच्चाधिकारियों से मिलकर घटना की जानकारी देकर जंसा पुलिस के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की है। सफाई में जंसा पुलिस का कहना है कि सलीम के तरफ से खुर्शीद के खिलाफ मारपीट का मुकदमा दर्ज कराया गया है। दूसरा पक्ष तहरीर देगा तो मुकदमा लिखा जाएगा। पुलिस की एक पक्षीय कार्रवाई से ग्रामीणों में आक्रोश है।

पीटने वालों का कराया मेडिकल और दर्ज की रपट

खरगूपुर गांव निवासी सलीम व खुर्शीद के बीच रास्ते के विवाद को लेकर मंगलवार की शाम मारपीट व पथराव हुआ था। इसमें खुर्शीद की पत्नी को भी बुरी तरह से पीट कर घायल कर दिया गया था। वारदात की सूचना पर जंसा पुलिस मौके पर पहुंच कर दोनों पक्षो को थाने ले गई। आरोप है कि परंतु पुलिस ने सलीम पक्ष के लोगों का मुकदमा दर्ज करते हुए सामुदायिक कल्याण केंद्र हाथी पर ले जाकर उपचार भी करवाया। वहीं घायल खुर्शीद की पत्नी सालेहा बानो का इलाज निजी अस्पताल में कराने के लिए भेज दिया था। यही नहीं आरोप यह भी है कि है कि पुलिस ने खुर्शीद को पांच घंटे तक हवालात में डाल कर प्रताड़ित भी किया था। जब जानकारी मिली कि खुर्शीद की पत्नी की हालत गंभीर है तो पुलिस ने देर रात उसको थाने से छोड़ दिया।

admin

No Comments

Leave a Comment