स्टूूडेंट तक तो गनीमत थी फेसबुक पर वीसी का बन गया फर्जी ‘एकाउंट’, लोगों को सचेत करते हुए पुलिस से कार्रवाई की गुहार

वाराणसी। काशी हिन्दू विश्वविद्यालय में पढ़ने वाले छात्र-छात्राओं के फर्जी फेसबुक समेत दूसरे सोशल मीडिया एकाउंट बनाने की शिकायतें आती रहती थी। एकाउंट हैक करने से लेकर फोटोशॉप से ‘चरित्र हनन’ की सूचनाओं को भी गंंभीरता से नहीं लिया जाता था। बीएचयू प्रशासन के होश उससमय फाख्ता हो गये जब सूचना मिली कि कुलपति प्रोफेसर राकेश भटनागर के नाम से फर्ज़ी फेसबुक अकाउंट ही नहीं चल रहा बल्कि इसके जरिये लोगों को फ्रैंड रिक्वेस्ट भी भेजी जा रही है।

भ्रम फैलाने की कोशिश बताया गया

बीएचयू पीआरओ राजेश सिंह ने स्पष्ट किया है कि इससे सचेत रहें क्योंकि कुलपति ने एफबी पर अकाउंट या पेज नहीं बनाया है। अलबत्ता विश्वविद्यालय प्रशासन के संज्ञान में शनिवार को आया है कि कुलपति प्रो. राकेश भटनागर जी के नाम से फर्ज़ी फेसबुक अकाउंट बनाकर कई लोगों को फ्रैंड रिक्वेस्ट भेजी जा रही है। इस संदर्भ में यह स्पष्ट किया जाता है कि कुलपति का कोई फेसबुक अकाउंट नहीं है और न ही उनकी तरफ से ऐसा कोई अकाउंट, पेज या फेसबुक ग्रुप चलाया जा रहा है। कतिपय लोगों द्वारा फर्ज़ी सोशल मीडिया अकाउंट बना कर भ्रम फैलाने की कोशिश की जा रही हैं। अत: ये अपील की जाती है कि इस तरह की कोशिशों से सचेत रहें। इस संदर्भ में एसएसपी को भी उचित कार्रवाई हेतु अवगत कराया गया है।

Related posts