मीरजापुर। जनपद के एसपी आशीष तिवारी को पुलिस महकमे में टेक्नोक्रेट कप्तान यूं ही नहीं कहा जाता है। पूूरे देश में इस समय बैंक खातों से आन लाइन ट्रांजेक्शन कर ररम उड़ायी जा रही है। इसमें रिकवरी न के बराबर रहती है। इसके उलट मीरजापुर पुलिस ने पांच लोगों के बंैक खातों से उड़ाये गये 1.60 लाख रुपये रिकवर कर लिये हैं। खास यह कि धोखाधड़ी के शिकार होने वालों नें दो पीएसी के कर्मचारी भी शामिल थे जिसने खाते में 50 हजार रुपया वापस आ चुका है। इसक ेसाथ कप्तान ने साइबर क्राइम से बचने के लिए टिप्स दिये हैं जिसका अनुपासन करने पर बैंक खाते से पैसा नहीं उड़ाया जा सकता है।
त्वरित कार्रवाई का नतीजा रहा रिकवरी
मीरजापुर पुलिस से कई लोगों ने शिकायत की थी कि उनके मोबाइल नंबर पर अज्ञात व्यक्ति द्वारा फोन कर के अपने को बैंक अधिकारी बताते हुये एटीएम को चालू करने या आधार नंबर से जोड़ने के नाम पर समूचा विवरण पूछते हुए उनके खाते से आॅनलाइन रुपया निकाल लिए गये। इसमें उषा देवी निवासिनी तरकपुर,मीरजपुर के खाते से 51990,सुरेश कुमार पिपरवार- मडिहन के खाते से 43 हजार, 39वीं वाहिनी पीएसी के अश्वनी कुमार सिंह के खाते से 20 हजार और श्रीप्रकाश राय के खाते से 30 हजार के अलावा सतपाल सिंह यादव सुरहा अदलहाट के खाते से 16 हजार रुपये निकल गये थे। एसपी लोगों से कहा कि बैंक कभी फोन कर खाते से संबंधित गोपनीय जानकारी नहीं मांगता है। उन्होंने अनुरोध किया है कि एटीएम कार्ड रिन्यूवल याा आधार से जोड़ने के नाम पर आने वाले फोन को नदरंदाज करे।
साइबर से सम्पर्क कर उसे दे यह जानकारी
इसके साथ कप्तान ने अधीनस्थों और बैंककर्मियों से कहा कि खाते से पैसा आॅनलाइन गायब कर लिये जाने के संबंध में आपको शिकायत प्राप्त प्राप्त हो तो शिकायतकर्ता से निम्नलिखित दस्तावेज लेकर तत्काल साइबर सेल से संपर्क करने को कहें। साइबर सेल मीरजापुर का मोबाइल नंबर 7388658982 और 9451082870 उपलब्ध हैं। शिकायत करने के लिए आधार कार्ड नंबर, बैंक पासबुक पर पैसा कट जाने का विवरण प्रिंट करा कर /बैंक खाते का स्टेटमेंट की छाया प्रति तथा बैंक खाते से जुड़े हुए मोबाइल को साथ लाएं। इसके साथ ही उन्होंने बैंक अधिकरियों से अनुरोध किया है कि शिकायतकर्ता को इसका प्रिंटआउट अवश्य उपलब्ध करायें।

admin

No Comments

Leave a Comment