श्वसुर नहीं रहे केन्द्रीय मंत्री लेकिन दामाद दे रहा है पुलिस को ‘वर्दी’ उतरवाने की धमकी, कैैंट थाने में दर्ज मुकदमे से बौखलाहट

वाराणसी। इन दिनों भाजपा नेताओं की ‘हरकतें’ पार्टी के लिए परेशानी का सबब बनी है। नेताओं से जुड़े मामले खत्म हो इससे पहले उनके रिश्तेदारों के कारनामे भी सोशल मीडिया में वायरल हने लगे। ताजा प्रकरण पूर्व केन्द्रीय मंत्री और भाजपा के कद्दावर नेता कलराज मिश्र के ‘दामाद’ निजी अस्पताल के संचालक रत्नेश द्विवेदी से जुड़ा बताया जा रहा है। एक निजी सेल्युलर कंपनी के आफिस में घुसकर मारपीट और गाली-गलौज से विवाद की शुरूआत हुई थी। कंपनी की तरफ से लिखित शिकायत मिलने के बाद कैंट पुलिस ने डाक्टर को फोन किया तो वह ‘वर्दी’ उतरवाने की धमकियां देने लगे। बहरहाल कैैंट थाने में मामले की रपट दर्ज करने के साथ विवेचना की जा रही है।

दिये बगैर पहचान थी सिमकार्ड की डिमांड

कंपनी के कर्मचारियों का कहना है कि डाक्टर अपने साथियों के संग पहुंचे थे और बगैर पहचान पत्र दिये सिमकार्ड चाहते थे। इस पर समझाया गया कि आधार कार्ड आवश्यक है जिसमें जानकारी रहती है। आरोप है कि इस पर आग-बबूला डाक्टर ने न सिर्फ मारपीट की बल्कि हाथापायी के दौरान मोबाइल पटक कर तोड़ दिया। शिकायत मिलने पर पुलिस ने डाक्टर को फोन कर पक्ष जानना चाहा तो वह ‘वर्दी’ उतरवाने से लेकर धमकियां देने लगे। सोशल मीडिया में प्रकरण वायरल होने के बाद पुलिस एक्शन मोड में आ चुकी है।

Related posts