चंदौली। निकाय चुनाव में जीत हासिल करने के बाद भाजपा ने सपा को एक और करारा झटका देने की तयौरी कर ली है। नियामताबाद क्षेत्र पंचायत प्रमुख पद के लिए छह दिसंबर को अविश्वास प्रस्ताव पर मतदान का तिथि नियत होने के साथ गहमा-गहमी बढ़ गयी है। पिछले दो दशकों से सपा की यह अजेय किला रहा है जहां सूबे में सरकार किसी हो लेकिन प्रमुख समाजवादी पार्टी का रहता है। इस समय भी सपा के महेंद्र पासवान ब्लाक प्रमुख है जिनके खिलाफ के पद को सुशोभित कर रहे हैं। बीडीसी उमाशंकर उर्फ पप्पू के नेतृत्व में 76 क्षेत्र पंचायत सदस्यों ने उनके खिलाफ अवाज बुलंद की है। सपा को सहारा है पूर्व सांसद रामकिशुन का है जिन्होंने बागियों को मनाने के साथ रणनीति तैयार करनी  शुरू कर दी है।

141 बीडीसी सदस्य करेगे फैसला

नटकीय घटनाक्रम में 10 नवंबर को उमाशंकर उर्फ पप्पू के नेतृत्व में 76 बीडीसी डीएम हेमंत कुमार के समक्ष पेश होकर ब्लाक प्रमुख महेन्द्र के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव की नोटिस दी थी। इन लोगों ने 82 क्षेत्र पंचायत सदस्यों का हलफनामा डीएम को सौंपा था। जिला प्रशासन ने शपथ पत्रों का अवलोकन कर मौजूद 141 बीडीसी सदस्यों को रजिस्टर्ड पत्र से अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा कराने की तिथि से अवगत करवा दिया गया। स्थानीय जिला निर्वाचन अधिकारी जगरूप ने इसकी पुष्टि करने बताया कि छह को मतदान होगा।

admin

No Comments

Leave a Comment