आजमगढ़। जाफरपुर (मेहनगर) में 6 फरवरी को बोलेरो में जिस दिनेश नामक युवक की लाश मिली थी उसे मारने वाले कोई और नहीं बल्कि उसके मित्र ही थे। वारदात से पहले पार्टी हुई थी जिसमें शराब का दौर चला चला था। जमकर शराब पीने के बाद नशे में मदहोश दोस्तो ने अपने ही दोस्त का सिर बोलेरो से लड़ना शुरू कर दिया। जब तक उसके प्राण-पखेरू उड़ नहीं गये तब इसका सिलसिला चलता रहा। गुरुवार को एसपी सिटी सुभाषचंद्र गंगवार ने दिनेश के मित्र नरेश, इन्द्रेश व टीका उर्फ छोट को मीडिया के सामने पेश करते हुए बताया कि विवाद मामलू बात को लेकर शुरू हुआ जिसमें तीनों ने दोस्त की जान ले ली।

आये दिन हुआ करती थी ऐसी पार्टियां

जाफरपुर के पास बोलेरो में एक लाश बरामद होने के बाद पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर विवेचना शुरू की तो पता चला कि मृतक दिनेश आये दिन मित्रों से पार्टियों में रहता था। उसके तीन दोस्त नरेश, इन्द्रेश व टीका उर्फ छोटे अक्सर ही आपस में मीट-मुर्गा पार्टी कर दारू का सेवन करते थे। यह भी पता चला कि 5 फरवरी की रात को भी यह आपस में एक पार्टी कर शराब का सेवन किये थे। शराब के नशे में इनके आपस में ही किसी बात पर बहस हुई, बहस इतनी बढ़ी कि दोस्ते ने ही विनोद का सर गाड़ी में लड़ा कर मार दिया। पुलिस ने गिरफ्तार आरोपियों के पास से मृतक विनोद की मोबाईल भी बरामद कर ली है और आरोपियों को जेल भेज दिया।

admin

No Comments

Leave a Comment