जौनपुर। केराकत क्षेत्र के पूर्व विधायक सोमारू राम सरोज के बेटे मनोज सरोज की दबगंई पहले की तरह जारी है। मनोज ने शनिवार की रात शराब के बेचने को लेकर पास के ही गांव मुरारा में जितेन्द्र सरोज को गाली गलौज देते हुये कन्धे के पास दाहिने हाथ में गोली मारकर घायल कर दिया। गोली लगने के बाद जान बचााकर भागते समय जितेन्द्र नहर में गिर गया। बाद में परिजन जितेन्द्र को इलाज के लिए केराकत अस्पताल लाए जहां से जिला अस्पताल और उसके बाद वाराणसी ट्रामा सेण्टर के लिये रेफर कर दिया गया। घायल के पिता की तहरीर पर आरोपी विधायक पुत्र को पुलिस ने सक्रियता दिखाते हुये गिरफ्तार कर जेल भेज दिया और घटना में उपयुक्त पिस्टल को बगल के गांव के एक मास्टर के घर के पीछे से पुलिस नें खोजकर बरामद कर लिया। आपरेशन के बाद जितेन्द्र की हालत स्थिर बनी है।

कुछ यंू रहा घटनाक्रम

मुरारा गांव निवासी दिनेश सरोज ने केराकत कोतवाली में तहरीर दी कि शनिवार रात साढ़े 9 बजे वह खाना खा रहे थे। तभी क्षेत्र के पतौरा गांव निवासी पूर्व विधायक सोमारू राम सरोज के पुत्र मनोज सरोज अपने बुलेट गाड़ी से मेरे घर आये और मेरे बेटे जितेन्द्र सरोज से शक वश पूछा कि ट्रक में क्या लादे हो? जितेन्द्र ने बताया कि ट्रक खाली है फिर मनोज गाली-गलौज देने लगा। शोर गुल सुनकर मैं पहुंचा और मनोज को गाली-गलौज देने से मना किया। पूर्व विधायक ने मुझे थप्पड़ मारा। बेटे जितेन्द्र ने बीच-बचाव कर मामले को शांत कराने की कोशिश की लेकिन मनोज ने अपनी लाइसेंसी पिस्टल से मेरे बेटे जितेन्द्र को गोली मार दी। फिल्मी तरीके से असलहा लहराते और धमकियां देते हुुए मनोज भाग गया। केराकत पुलिस ने सक्रियता दिखाते हुए मनोज को गिरफ्तार कर आईपीसी की धारा 323, 504, 506, 307 के तहत जेल भेज दिया। पुलिस ने रविवार को 10 बजे दिन में घटना में उपयुक्त पिस्टल को क्षेत्र के खटहरा ग्राम निवासी हवलदार मास्टर के घर के पीछे से बरामद कर लिया।

पूर्व विधायक ने क्रास एफआईआर के लिए दी तहरीर

दूसरी तरफ गिरफ्तार आरोपित मनोज सरोज के पिता सोमारू राम सरोज पूर्व विधायक ने पुलिस को लिखित तहरीर देते हुए बताया कि क्षेत्र के ग्राम आजादनगर व पतौरा में मेरे बेटे मनोज सरोज की सरकारी शराब की दूकान है। मनोज बिक्री का पैसा लेकर शनिवार रात बुलेट से अपने घर आ रहा था कि रास्ते में मुरारा खटहरा ग्राम के नहर के पास ट्रक से शराब उतर रहा था। इसे देख बेटे मनोज ने पूछताछ करने लगा उतने में आधा दर्जन लोग गाली-गलौज करते हुए आये और मेरे बेटे मनोज को मारने पीटने लगे और शराब की बिक्री का पैसा भी मारपीट कर छीन लिये और बुलेट गाड़ी भी मारकर क्षतिग्रस्त कर दिये। किसी तरह बेटे मनोज ने जान बचाते हुए वहां से भागा।

admin

No Comments

Leave a Comment