वाराणसी। कतवारुपुर (जंसा) स्थित एक ईट भट्ठे पर बुधवार की देर शाम दीवार गिर जाने की वजह से जिन दो नाबालिग बच्चों की मौत हो उनके शव भट्ठा मालिक बबलू पाठक ने वरुणा नदी में फेंकवा दिया था। मामले को दबाने के लिए भठ्ठा मालिक ने मजदूरों को रुपए का लालच देकर उन्हें शांत कराने के साथ दोनों बच्चों के शवो को गायब करा दिया था। पुलिस ने मृतक के परिजनों के निशान देही पर भिटकुरी स्थित वरुणा नदी से दोनों शवो बरामद कर लिया है। गुरुवार को सीओ सदर अंकिता सिंह ने घटनास्थल पर पहुच कर मामले की जांच की तो इसका पता चला। गई थी। इस मामले में मृतक के मजदूर पिता बंशीलाल ने भठ्ठा मालिक बबलू पाठक के खिलाफ आईपीसी की धारा 304 के तहत मुकदमा दर्ज कराया है।

एसएसपी ने लिया था मामले को गंभीरता से

इसी थाना क्षेत्र के बसवरिया गांव निवासी बबलू पाठक का कतवारुपुर में ईट भट्ठा है। यहां बुधवार की देर शाम ईट भट्ठे की दिवार गिर जाने से मलबे में दबकर दो नाबालिग बच्चों की मौत हो गई थी। मौत होने के बाद भट्ठा मालिक ने बगैर पुलिस को सूचना दिए ही दोनो शवो को गायब करा दिया था। मामला तूल पकड़ने के बाद एसएसपी आर के भारद्वाज के निर्देश पर पुलिस ने लातेहार झारखण्ड निवासी मजदूर बंशीलाल के तहरीर पर गुरुवार को भट्ठा मालिक बबलू पाठक के खिलाफ 304 ए का मुकदमा दर्ज कर चौबीस घण्टे बाद दोनो शवो को वरुणा नदी से बरामद कर पीएम के लिया दिया है। बंशीलाल ने अपने तहरीर में दशार्या है कि मृतको में पप्पू तीन वर्ष पुत्र बंशी व कमला पांच वर्ष पुत्री रिंकू शामिल है। सीओ सदर अंकिता सिंह ने बताया है कि भट्ठा मालिक ने शव छिपाकर गम्भीर अपराध किया है। उनके विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर कानूनी कार्रवाई की जा रही है।

admin

No Comments

Leave a Comment