आजमगढ़। कुख्यात और इनामी बदमाशों के खिलाफ अभियान चला कर जिला पुलिस राहत की सांस भी नहीं ले पा रही कि दुस्साहसिक वारदात को अंजाम देकर अपराधी नयी चुनौती पेश कर रहे हैं। ताजा मामला छतौना (अहरौला) गांव का है जहां गुरुवार की दोपहर बदमाशों ने अमित उर्फ छोटू यादव (18) को गोली मार कर मौत की नींद सुला दिया। हत्यारे इतने शार्प शूटर थे कि खुली खिड़की से वारदात को अंजाम देने के बाद वह निकल गये। जब तक घरवालों को इसका आबास होता हमलावर फरार हो चुके थे। खास यह कि अमित सुबह की अपनी ननिहाल आया था यहां उसकी कोई रंजिश भी नहीं थी। अलबत्ता ग्राम प्रधान नाना हीरा यादव का खडंजा विचाने को लेकर कुछ लोगों से विवाद हुआ था। पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया है और सभी पहलुओं की जांच कर रही है।

सुबह ही पहुंचा था मृतक

मूल रूप से उदपुर (फूलपुर) निवासी अमित उर्फ छोटू यादव सुबह ही अपने ननिहाल पहुंचा था। दोपहर को मामा के बेटे सोनू के साथ गांव में रामबूझ राम के यहां आयोजित बहूभोज में शामिल होकर लौटने के बाद अमित बरामदे से सटे कमरे में सो गया। दूसरी तरफ सोनू किसी अन्य काम से बाहर चला गया। लगभग तीन बजे गमछे से मुंह बांधे हुए दो बदमाश पैदल ही आए और खिड़की से सोये अमित पर गोली बरसायी। सिर और चेहरे पर गोली लगने से मौके पर ही अमित की मौत गयी। गोली की आवाज सुनकर घरवाले निकले तो बदमाशों को ललकारा लेकिन वह भागने में सफल रहे। वारदात की सूचना मिलने पर सीओ बूढनपुर, अहरौला तथा फूलपुर कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंची। ग्राम प्रधान हीरा यादव ने बताया कि गांव के कुछ लोगों से खड़ंजा लगाने का विवाद चल रहा था। विरोधी पहले भी उनकी हत्या करने के लिए आए थे। सीओ बूढनपुर ने बताया कि घटना के कारण स्पष्ट नहीं हो सके हैं। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है।

admin

Comments are closed.