20 दिन में ही सामने आ गई सड़क की असलियत, सातवें आसमान पर पहुंचा सीडीओ का पारा

गाजीपुर। जिले में होने वाले विकास कार्यों में किस तरह से लापरवाही और भ्रष्टाचार का आलम है इसकी बानगी देखने को मिली चोचकपुर गांव में। मुख्य विकास अधिकारी हरिकेश चैरसिया ने पूर्वाचल विकास निधि (राज्यांश) योजना की लगभग 2 कि0मी0 लम्बाई सैदपुर चोचकपुर सम्पर्क मार्ग से मंझरिया गाॅव तक निर्मित मार्ग का स्थलीय निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान सड़क की स्थिति बहुत ही खराब हालत में रही और सड़क टूटी हालत में पायी गयी। ग्रामवासियों द्वारा बताया गया कि सड़क का निर्माण 20 दिन पहले ही किया गया था आज की स्थिति यह है कि सड़क जगह जगह टूट चुके हैं रोड पर गिट्टी पायी गयी जिससे आने जाने में समस्या उत्पन्न हो रही है। जिसपर मुख्य विकासअधिकारी द्वारा स्वयं सड़क की गुणवत्ता की जांच हेतू खुदाई कराकर पिच की गुणवत्ता एवं उसमे डाले गये गिट्टी की जानकारी ली।

पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों को लगाई फटकार

पिच की गुणवत्ता में कमी पाये जाने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए लोक निर्माण विभाग, के सहायक अभियन्ता को निर्देश दिया कि तत्काल मानक के अनुरूप सही गुणवत्ता के साथ सड़क मरम्मत का कार्य कराया जायंे। इसमें किसी प्रकार की लापरवाही क्षम्य नही की जायेगी। कार्य में लापरवाही तथा एक सप्ताह में कार्य पूर्ण न होने की स्थिति में सम्बन्धित के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने का कहा। उन्होने निर्माण खण्ड के अधिकारी को सड़क से बरसात के मौसम में जल निकासी हेतु चिन्हित कम से कम 3 स्थानो पर छोटी पुलिया निर्माण कराकर जल निकासी व्यवस्था की जाय।

Related posts