जौनपुर। जिले में कानून-व्यवस्था को लेकर शासन जो भी दावे करे लेकिन हकीकत में दशा पटरी से उतर चुकी है। कप्तान से लेकर थानेदार तक बदले गये लेकिन हाल ढाक के तीन पात सरीखा है। रविवार को दिनदहाड़े कुछ घंटे के अंतराल पर दो लोगों को सरेआम गोली बरसा कर मौत की नींद सुला दिया गया। बक्शा में हत्या के बाद परिजन शव को हाइवे पर रख कर धरने पर बैठ गये। इसकी जानकारी मिलने पर पहुंचे पूर्व कैबिनेट मंत्री पारसनाथ यादव भी उनके संग खुद सड़क पर बैठ गए। मौके पर कई थानों की फोर्स पहुंची। कमोवेश यही दशा जलालपुर थाना क्षेत्र के सरैया गांव में पूर्व प्रधान और मनरेगा के ब्लाक कोआर्डिनेटर संजय मौर्य की हत्याके बाद भी हुई।

हत्या कर फरार हो गये बाइक सवार

लखौवा बाजार (बक्शा) में दोपहर में 3 बजे ब्प्यारेलाल यादव बाजार में एक दूकान के सामने खड़े होकर किसी से बात कर रहे थे। इसी दौरान बाइक पर सवार दो बदमाश पहुंचे और पिस्टल से गोली मार दी। बाइक सवार बदमाश गोली मारने के बाद पिस्टल लहराते हुए मौके से फरार हो गये। प्यारेलाल की मौके पर ही मौत हो गई। घरवालों को प्यारेलाल की मौत की सूचना मिली तो परिवार में कोहराम मच गया। दूसरी वारदात सरैया गांव (जलालपुर) में हुई जहां संजय मौर्य की गोली मारकर हत्या कर दी गई। संजय इसी गांव के पूर्व प्रधान थे और इस समय जलालपुर ब्लाक में बतौर मनरेगा कोआर्डिनेटर के पद पर कार्यरत थे। संजय घर से पांच सौ मीटर दूर अपने खेत में मौजूद थे इसी दौरान बाइक पर सवार दो बदमाश पहुंचे। दोनों हेलमेट लगाए थे जिन्होंने करीब जाकर पिस्टल से चार गोली उनके सीने में उतार दी। मौके पर मौत हो गई। पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया है। घटना से गुस्साए लोगों ने पराउगंज बाजार के पास सड़क जाम कर दिया था।

admin

No Comments

Leave a Comment