वाराणसी। इंसाफ की आस लिए पुलिस चौकी में पहुंचे एक शख्स की वर्दीवालों ने पिटाई कर दी। पिटाई भी कुछ इस कदर कि वह गंभीर रुप से जख्मी हो गया। पूरा मामला सेवापुरी के रामेश्वर पुलिस चौकी का है। आरोप है कि यहां पर तैनात दरोगा अरुण सिंह व सिपाही पंकज यादव  ने एक फरियादी की चौकी के अंदर ही इस कदर पिटाई कि वह बेहोश हो गया। फरियादी के बेहोश होते ही पुलिस वालों के होश उड़ गए। पुलिसकर्मियों ने उसे आनन-फानन में हरहुआ स्थित एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया। पुलिस के इस कृत्य से क्षेत्र में हड़कंप मचा हुआ है।

रास्ते के विवाद में बुलाया था पुलिस चौकी

बताया जाता है कि कपरफोरवा गांव में राम सूरत पटेल व विश्राम पटेल के बीच रास्ते का विवाद काफी दिनों से चल रहा था। इसी विवाद के मामले में विश्राम पटेल ने रामेश्वर पुलिस चौकी पर प्रार्थना पत्र देकर रामसूरत पटेल के खिलाफ कार्रवाई की मांग किया था। रामेश्वर पुलिस चौकी  के पुलिसकर्मी शुक्रवार को कपरफोड़वा गांव पहुंचकर रामसूरत पटेल  के घर गए। लेकिन वह घर मौजूद नहीं था। पुलिस कर्मियों ने रामसूरत पटेल के घर की महिलाओं के साथ अभद्र व्यवहार करते हुए उसे रविवार को पुलिस चौकी पर बुलाया था। रविवार को पूर्वाहन दोनों पक्ष पुलिस चौकी पर पहुंचे, जहां पुलिस वालों ने दोनों पक्षों का समझौता करा दिया। रामसूरत पटेल का पुत्र रामाधार 28 पुलिस कर्मियों से सिर्फ इतना ही पूछ दिया कि शुक्रवार को मेरे भाभी सरोजा के साथ आप लोगों ने अभद्र व्यवहार क्यों किया ? यह बात पुलिस वालों को नागवार लगी। इसी बात पर पुलिस वालों ने उसे बुरी तरह से पुलिस चौकी में पीटने लगे।

परिजन गिड़गिड़ाते रहे, पुलिस वाले डंडा चलाते रहे

 पुलिस की पिटाई के दौरान रामाधार का बड़ा भाई बुझारत पटेल भी पुलिस चौकी में मौजूद था। वह अपने भाई को बचाने के लिए वर्दीवालों के सामने गिड़गिड़ाता रहा, लेकिन पुलिस वालों के दिल नहीं पसीजा। बुझारत पटेल ने बताया कि  रामेश्वर पुलिस चौकी में  तैनात दरोगा अरुण सिंह व सिपाही पंकज यादव ने मेरे भाई को बुरी तरह से  पीटा है। जंसा थानाध्यक्ष मनोज कुमार ने बताया कि मामला संज्ञान में है, जांच के बाद कार्रवाई होगी।

admin

No Comments

Leave a Comment