पीएम आवास बना बच्ची की मौत का सबब, पुलिस ने स्वत: संज्ञान में लेकर दर्ज की रपट

जौनपुर। शहर के पान दरीबा मुहल्ले में प्राथमिक विद्यालय के बगल में बन रहे पीएम आवास का बारजा गिरने से तेजस्वी चौरसिया (8) काल के गाल में समा बैठी। शर्मनाक यह कि वहां के टीचर ने अपने उच्चाधिकारी खंड शिक्षा अधिकारी एवं बेसिक शिक्षा अधिकारी को घटना की पूरी जानकारी दिया मौके पर कोई भी अधिकारी नहीं आ पाया। मकान प्रधानमंत्री शहरी योजना के अंतर्गत मंगला गुप्ता का बन रहा था। आरोप है कि इसमेंं घटिया क्वालिटी का सामग्री का इस्तेमाल किया जा रहा था। मौत मौके पर ही हो चुकी थ लेकिन स्कूल के मास्टर तत्काल बच्ची को हॉस्पिटल लाए जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। परिजनों ने भले तहरीर नहीं दी लेकिन पुलिस ने स्वत: संज्ञान में लेते हुए पंचनामा करके बॉडी को पोस्टमार्टम हेतु भेज दिया।

पुलिस ने कहा होगी सख्त कार्रवाई

मिसिरपुर मोहल्ला निवासी प्रदीप कुमार चौरसिया की पुत्री तेजस्वी यहीं के प्राथमिक विद्यालय में कक्षा तीन की छात्रा थी। दोपहर में करीब एक बजे स्कूल से घर लौटते समय मंगल गुप्ता के निमार्णाधीन प्रधान मंत्री आवास के पास पहुंची थी तभी सड़क पर चार फीट तक निकला बारजा अचानक ढह गया। सीओ सिटी नृपेंद्र ने स्पष्ट किया कि मृतका के घरवालों की तरफ से पुलिस को तहरीर नहीं मिली है। पुलिस ने खुद संज्ञान लेकर शव का पोस्टमार्टम कराकर परिजनों को सौंप दिया। तहरीर मिलने पर रपट दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी। तकरीबन चार फीट चौड़े बारजे के नीचे कोई सपोर्ट भी नहीं था। पीएम आवास योजना (शहरी) के नोडल अधिकारी परियोजना अधिकारी डूडा एमपी सिंह का कहना है कि घटना की सूचना मिली है। जांच कराई जाएगी। निर्माण में लापरवाही हुई होगी तो संबंधित के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

Related posts