‘आतंकगढ’ नहीं बल्कि जिले की नयी पहचान होगी ‘निरहुआ’, सीएम योगी ने सपा-बसपा पर प्रहार कर बतायी 74 वीं सीट

आजमगढ़। पिछले लोकसभा चुनाव में भाजपा को प्रदेश में 73 सीट मिली थी और इस बार का लक्ष्य इससे एक सीट अधिक का रखा गया है। भाजपा प्रत्याशी और भोजपुरी सुपरस्टर दिनेश लाल यादव निरहुआ के समर्थन में सभा को संबोधित करने आये सीएम योगी मौजूद जन समुदाय को बताया कि 74 वीं सीट कोई और नहीं बल्कि आजमगढ़ होगी। योगी ने खरिहानी के हाइडिल मैदान में लोगों से कहा कि सपा-बसपा हार देखकर निरहुआ को नचनिया कहने लगी है लेकिन वह हमारी नजर में कला और संस्कृति की पहचान है। जनपद में विश्वविद्यालय घोषणा की याद दिलाते हुए दोहराया कि इसे स्थापित कराना हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है। लोकसभा चुनाव के बाद निरहुआ के साथ ही इस विश्वविद्यालय का भी शिलान्यास होगा।

सपा-बसपा की सरकार में हुई बदनामी

सीएम योगी ने सपा-बसपा पर तंज कसने के क्रम में कहा कि इसके लोग अपराध को अपने डीएनए से जोड़ते हैं इसी खातिर बाटला हाउस का समर्थन करते हैं। सीएम का आरोप था कि सपाइयों ने आजमगढ़ को ‘आतंक का गढ़’ के रूप में बदनाम कर दिया था। सपा-बसपा की सरकारों में तो दशा यह थी कि देश के दूसरे हिस्सों में यहां का निवासी बताने पर कमरा तक नहीं मिलता था। अब युवाओं के सामने पहचान का संकट खत्म होगा और निरहुआ यहां की नई मिसाल बनेंगे।

अरसे तक विकास से अछूता

सीएम का मानना था ति आजमगढ़ और जौनपुर भौगोलिक रूप से वाराणसी-गोरखपुर के बीच में स्थित हैं। बावजूद इसके जितना विकास गोरखपुर और वाराणसी का हुआ उतना आजमगढ़ का नहीं हो सका। यहां पर विकास के लिए पीएम खुद आये और पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का शिलान्यास किया। देश में तीन चरणों के मतदान हो चुके हैं जिसके रूझान भाजपा के पक्ष में हैं। पार्टी एक बार फिर से बहुमत की सरकार बनाने जा रही है। गठबंधन के बाद कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि उनके शासनकाल में पाकिस्तान हमारे सैनिकों का सिर काटकर जाता था और अब हमघर में घुस कर मारते हैं।

Related posts