मीरजापुर। मादक पदार्थ के तस्करों ने इन दिनों नया फंडा अपना लिया है। लक्जरी वाहनों में भाजपा का झंडा लगा कर एक प्रांत से दूसरे की सीमा पार करते हैं। गुरुवार की रात मुठभेड़ में एक कुंतल से अधिक गांजा लेकर जा रहे तस्करों ने रोकने का इशारा करने पर पड़री इंस्पेक्टर पर फायर ही नहीं किया बल्कि उनकी निजी शिफ्ट डिजायर कार पर टक्कर मारते हुए भागने का प्रयास किया। सूचना मिलने पर एसओ अदलहाट विजय प्रताप सिंह भी पहुंच गये थे जिन्होंने घेराबंदी कर तीन तस्करों को धर-दबोचा जबकि एक मौके से भागने में सफल रहा। एसपी आशीष तिवारी ने शुक्रवार को गिरफ्तार तस्करों को मीडिया के सामने पेश करते हुए गिरफ्तारी और बरामदगी में शामिल टीम को पांच हजार रुपये पुरस्कार देने की घोषणा की है।

95

लंबे समय से कर रहे गांजे की तस्करी
मौके से पकड़े गये अर्जुन हरिजन, शेषमणि उर्फ देवराज पटेल तथा विजयपाल ने बताया कि फरार राजेश जायसवाल उर्फ गुड्डू लंबे समय से गांजे की तस्करी में लिप्त है। तलाशी में तस्करों के पास के रिवाल्वर,तंमचा,1.05 कुंतल गांजे और एसयूवी बरामद हुई है। एसयूवी इसी महीने 9 तारिख को खरीदी गयी थी और इसका इस्तेमाल गांजे की तस्करी के लिए होना था। गिरफ्तार तस्करों में दो इलाहाबाद के रहने वाले हैं जबकि सरगना और अर्जुन पड़री के निवासी हैं। तस्करों ने कबूल किया कि वह सिर्फ भाजपा का झंडा इस्तेमाल नहीं करते बल्कि जहां जिसकी सरकार होती उसका बनवा कर साथ रखते हंै। तस्करों के संबध सफेदपोशों से भी रहे हैं जिसकी गोपनीय ढंग से जांच की जा रही है।

admin

No Comments

Leave a Comment