वाराणसी। बीजेपी और उसकी सहयोगी सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के बीच रिश्तों में दूरियां बढती जा रही हैं। एक ओर जहां सुभासपा सुप्रीमो ओमप्रकाश राजभर ने बीजेपी सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है तो दूसरी ओर बीजेपी भी पलटवार करने से नहीं चूक रही है। बीजेपी अब सुभासपा के विधायक कैलाश सोनकर पर लग रहे भ्रष्टाचार के आरोपों को हवा देने में जुट गई है। वाराणसी में एक कार्यक्रम में शिरकत करने पहुंचे बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष महेंद्रनाथ पांडेय ने कैलाश सोनकर को चोर तक बता दिया।

शिलापट्ट पर नहीं लिखा विधायक का नाम

दरअसल कैलाश सोनकर वाराणसी के अजगरा से विधायक हैं। कैलाश सोनकर के ऊपर उनके ही विधानसभा के सैकड़ों लोगों ने लोन दिलाने के नाम पर फ्रॉड करने का आरोप लगाया है। इस बीच जब मंगलवार को प्रदेश के डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा और प्रदेश अध्यक्ष महेंद्रनाथ पांडेय एक कॉलेज के कार्यक्रम में शिरकत करने के लिए अजगरा विधानसभा क्षेत्र के पलहीपट्टी पहुंचे। बताया जा रहा है कि शिलापट्ट पर अजगरा विधायक कैलाश सोनकर का नाम नहीं लिखा था। शिलान्यास के दौरान महेंद्रनाथ पांडेय ने बातचीत में कहा कि‘’यहां का विधायक चोर है, इसलिए नाम नहीं लिखवाया’’। दरअसल अजगरा विधानसभा क्षेत्र चंदौली संसदीय क्षेत्र के अंतर्गत आता है। महेंद्रनाथ पांडेय चंदौली से ही सांसद हैं।

बीजेपी-सुभासपा के बीच बढ़ रही हैं दूरियां

हाल के दिनों में दोनों ही पार्टियों के नेताओं के बीच बयानबाजी तेज हो गई हैं। ओमप्रकाश राजभर बीजेपी को कोसने का कोई मुद्दा नहीं छोड़ रहे हैं। वहीं बीजेपी भी पीछे नहीं है। हालांकि बीजेपी प्रदेश  अध्यक्ष महेंद्रनाथ पांडेय कैमरे पर संयमित तरीके से ओमप्रकाश राजभर पर टिप्पणी की। उन्होंने कहा कि ‘’ओमप्रकाश राजभर यूपी सरकार के वरिष्ठ मंत्री हैं। हो सकता है कि वे जो बयान दे रहे हैं, पार्टी कार्यकर्ताओं को खुश करने के लिए हो।‘’

admin

No Comments

Leave a Comment