तेवर दिखाते हुए मीडिया ने किया बहिष्कार तो डिप्टी सीएम करने लगे मुनहार, सत्ताधारी दल के खिलाफ दिखा रोष

वाराणसी। केन्द्र और प्रदेश की सत्ता में काबिज भाजपा के कद्दावर नेता आये दिन काशी में दिखते हैं। वजह, पीएम मोदी यहां के सांसद हैं और इन तक शिकायत न पहुंचे इस खातिर पूरा ध्यान रखा जाता है। बावजूद इसके मीडिया के साथ बर्ताव में बदलाब आने लगा है। रविवार को जिले के प्रभारी मंत्री के सामने मीडियाकर्मियों के साथ धक्का-मुक्की की गयी। मामला पार्टी के कार्यकर्ता और विधायक के बीच था लेकिन कवरेज करने वाले इसकी चपेट में आये। इसका रूप रूप सोमवार को देखने को मिला जब मीडियाकर्मियों ने डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या की प्रेस कांफ्रेस का बहिष्कार कर दिया।

देर तक चला मान-मनौव्वल

दरअसल सूचना विभाग की तरफ से एक दिन पहले डिप्टी सीएम के प्रेस कांफ्रेस की जानकारी दी गयी थी। बकरीद और अंतिम सोमवार के चलते भीड़ भी अधिक थी और कई कार्यक्रम के कबरेज करने थे। ऐसे में इंतजार कर रहे मीडियाकर्मियों के सब्र का बांध टूट गया और वह निकलने लगे। स्थानीय नेताओं से लेकर दूसरे लोगों ने रोकने की कोशिश की। इसकी जानकारी मिलने पर सर्किट हाउस से बाहर पैदल आकर डिप्टी सीएम ने मीडिया से हांथ जोड़कर बोला सारी बोला। माफी मांगने के बावजूद पत्रकारों का कहना था कि इतना विलंब होने पर कबरेज नहीं किया जा सकता है। नतीजा, बगैर प्रेस कॉन्फ्रेंस किये ही डिप्टी सीएम केशव प्रसाद को लौटना पड़ा।

Related posts