भदोही। नेशनल हाइवे पर ट्रक ड्राइवरों से लूट और विरोध करने पर मौत के घाट उतारने वाला गिरोह काफी समय से सक्रिय था। पिछले महीने औराई क्षेत्र में महज छह हजार रुपये लूटने की खारित ड्राइवर की गला घोंट कर हत्या को एसपी सचिन्द्र पटेल ने चुनौती के रूप में लेते हुए इसमें शामिल अपराधियों की गिरफ्तारी का टास्क स्वाट टीम के प्रभारी अजय सिंह को सौंपा था। टीम ने ऊंज पुलिस के साथ छापेमारी में बदमाशों को घेर लिया। बदमाशों ने फायर करते हुए भागने की कोशिश की जिसमें तीन अपराधी पकड़े गये जबकि दो फरार होने में सफल रहे। गुरुवार को मीडिया के सामने गिरफ्तार आरोपितों को पेश करते हुए एसपी ने टीम को 15 हजार रुपये पुरस्कार देने की घोषणा की।

महिला का झांसा देकर देते वारदात को अंजाम

एसपी ने बताया गया कि औराई में तीन नवंबर की रात हुई वारदात में 5 बदमाशो की संलिप्तता थी। गैंग के सदस्य रात्रि में ट्रक चालकों को महिला का लालच देकर अपने पास बुलाता है,और मौका देखकर मार पीट कर पैसा छिनैती करते है। सभी बदमाश जनपद इलाहाबाद के हंडिया थाना क्षेत्र के रहनेवाले है जो पहले भी भी जेल जा चुके है। सभी का लंबा आपराधिक इतिहास है। बुधवार की रात ऊज के नेशनल हाईवे पर स्थित नवघन पुलिया के पास गैंग की मौजूदगी की सूचना पर क्राइम ब्रांच और पुलिस की संयुक्त टीम द्वारा पुलिस मुठभेड़ के दौरान 3 सदस्यों को गिरफ्तार करने में महत्वपूर्ण सफलता प्राप्त किया गया है। पकड़े गए बदमाशों के पास से दो तमंचे व कारतूस-खोखा,लूटा गया 52 सौ रुपया, 4 मोबाइल मिला है। इस वारदात के बाद गिरोह के सक्रिय सदस्य सूरज चौहान उर्फ पुजारी को हंडिया पुलिस ने दूसरे मामले में गिरफ्तार कर लिया था और इन दिनों वह नैनी जेल में है। गिरफ्तार बदमाश संदीप उर्फ लल्लू उर्फ मुलायम चौहान, सोनू कन्नौजिया व उधव चौहान के फिलाफ गैंगस्टर एक्ट के तहत भी कार्रवाई की जायेगी। गिरफ्तारी व बरामदगी में मुख्य भूमिका क्राइम ब्रांच के स्वाट प्रभारी एसआई अजय सिंह,सचिन झा,इंदु प्रकाश,सर्वेश रॉय,मेराज अली,अजय यादव,अनिरुद्ध वैश्वार,इंस्पेक्टर ऊज सुनील कुमार वर्मा,इंस्पेक्टर औराई शेषधर पाण्डे,एसओ सुरियावां सतेंद्र यादव आदि शमिल रहे।

admin

No Comments

Leave a Comment