मीरजापुर। प्रथम अपर सत्र न्यायाधीश पीएन श्रीवास्तव की अदालत ने युवक की गोली मारकर हत्या करने के आरोप में अभियुक्त अखिलेश कुमार दुबे को गुरुवार को दोषसिद्ध पाए जाने पर उम्रकैद की सजा सुनाया है। साथ ही अभियुक्त पर एक लाख छह हजार रुपये का अर्थदण्ड भी लगाया है। अर्थ दण्ड की धनराशि में एक लाख रुपये मृतक की पत्नी को बतौर क्षतिपूर्ति किए जाने का आदेश कोर्ट ने दिया है। अभियोजन पक्ष से मुकदमे की पैरवी सहायक जिला शासकीय अधिवक्ता फौजदारी सच्चिदानन्द तिवारी ने की।

पांच साल पहले हुई थी वारदात

अभियोजन के मुताबिक चुनार कोतवाली क्षेत्र के खानपुर निवासी सूर्य प्रकाश दुबे ने 22 जून-2013 की सुबह कोतवाली चुनार पहुंच कर रिपोर्ट दर्ज करायी थी। सूर्य प्रकाश के मुताबिक वह गांव के शिवजी मंदिर के पास मौजूद था। वहीं से थोड़ी दूरी पर डीह बाबा के मंदिर के पास उसके भाई सत्य प्रकाश दुबे का गांव के ही अभियुक्त अखिलेश कुमार दुबे से सुबह लगभग 8.45 बजे कहासुनी व गाली-गलौज हो रहा था। हम उन दोनों की तरफ जा रहे थे कि तब तक अखिलेश कुमार दुबे ने अपने पास से रिवाल्वर निकाल कर उसके भाई सत्य प्रकाश दुबे को गोली मार दी। अखिलेश कुमार दुबे की मौके पर ही मौत हो गयी। इस मामले में अभियोजन पक्ष की तरफ से छह गवाहों को कोर्ट के समक्ष परीक्षित कराए गए। पत्रावली पर उपलब्ध साक्ष्य एवं गवाहों के बयान के आधार पर अदालत ने अभियुक्त को उम्र कैद की सजा व जुर्माने से दण्डित किया है।

admin

No Comments

Leave a Comment