कभी नकल के लिए ‘कुख्यात’ था गाजीपुर जिला, अब किसान की बेटी ने किया प्रदेश में नाम रौशन

गाजीपुर। एक दौर था जब पूर्वांचल के जिले गाजीपुर की गिनती यूपी के सर्वाधिक नकल करने वाले जिलों में होती थी लेकिन योगी सरकार के आने के बाद यहां की तस्वीर बदल गई है। यूपी बोर्ड के परीक्षा परिणामों में इस जिले का डंका बज रहा है। यहां के मनिहारी ब्लॉक के छोटे से गांव सिखड़ी की रहने वाली अनन्या आज सुर्खियों में है। यूपी बोर्ड की परीक्षा में इंटरमीडिएट में अनन्या ने दूसरा स्थान हासिल कर जिले का मान बढ़ाया है। अनन्या राय ने इंटरमीडिएट की परीक्षा के 92.6 प्रतिशत अंक प्राप्त किया है। लुदर्स कान्वेंटस्कूल की छात्रा अनन्या कामयाबी पर पूरे जिले में जश्न का माहौल है। रिजल्ट निकलने के बाद से ही बधाई देने वालों का तांता लगा हुआ है। लुदर्स कान्वेंट की प्रधानाचार्या सिस्टर अल्फोंसा ने सफलता के लिए अनन्या राय को मिठाई खिलाकर बधाई दी है।

किसान की बेटी है अनन्या

अनन्या की मां नीलम शिक्षक हैं जबकि पिता मनोज राय गांव में ही खेती बाड़ी करते हैं। अपनी बेटी की इस कामयाबी पर वो फूले नहीं समा रहे हैं। मनोज राय के मुताबिक उन्हें इस बात की पूरी उम्मीद थी कि उनकी बेटी जरुर टॉप-5 में रहेगी। वहीं अनन्या ने बताया कि वह अपनी मां की तरह शिक्षक बनना चाहती है। उसने अपनी सफलता का श्रेय अपने मां-बाप और शिक्षकों को दिया। आपको बता दें कि दसवीं कक्षा में जिले का 78.38 प्रतिशत रिजल्ट रहा। वहीं इंटरमीडिएट के परीक्षा में 68.27 प्रतिशत रिजल्ट के साथ गाजीपुर पूरे प्रदेश में 54वें स्था‍न पर रहा।

Related posts