चंदौली। सवा माह पहले मुगलसराय मालगोदाम में निजी कंपनी के टेक्नीशियन हेड सपन डे की दुस्साहसिक हत्या के मामले में चर्चा में आये राकेश सिंंह डब्बू पर पलिस ने नये सिरे से शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। मुगलसराय थाना प्रभारी शिवानंद मिश्र के नेतृत्व में पुलिस ने पांच बदमाशों को गिरफ्तार करते हुए दावा किया है कि सभी कुख्यात डब्बू के गुर्गे हैं जो रंगदारी वसूलते हैं। एसपी संतोष कुमार सिंह ने बुधवार को गिरफ्तार बदमाशों को मीडिया के सामने पेश करते हुए बताया कि उनके पास से 9 एमएम के संग .32 बोर की पिस्टल, टाटा सफारी स्ट्रोम व एक महिंद्रा स्कार्पियो के अलावा रंगदारी मांगने में प्रयुक्त मोबाइल बरामद हुआ है। खास यह कि पिछले शनिवार को इस मामले में पेशी पर आये डब्बू ने बाकायदा कोर्ट में प्रार्थनापत्र देकर एक भाजपा के एक बाहुबली विधायक से अपनी जान को खतरा बताया है। कहना न होगा कि बाहुबली विधायक पहले से कई संगीन मामलों के आरोपित रह चुके हैं और डब्बू का दावा है कि वह पहले भी उस पर हमला करा चुके हैं। इसके बाद रंगदारी का मुकदमा दर्ज होने के साथ शिकायत करने वालों के नाम सामने आने लगे।

एक सप्ताह से बढ़ा था मूवमेंट

गिरफ्तार बदनाशों में रामपुर (जौनपुर) के चौर निवासी राहुल सिंह, जलखोर (बबुरी) निवासी पवन सिंह उर्फ चिंटू, जमानिया (गाजीपुर) के तारन बारन निवासी तथा औरंगाबाद (बिहार) के खैरा निवासी राकेश गिरी उर्फ बाबा शामिल हैं। इनकी निशानदेही पर रेलवे कालोनी मुगलसराय से कुंदन सिंह को पकड़ा गया। पुलिस का कहना है कि गिरफ्तार अभियुक्तगण पिछले करीब सप्ताह भर से थाना क्षेत्र में लगातार भ्रमणशील रहकर किसी बड़ी घटना को अंजाम देने की फिराक में थे।

राजनैतिक संरक्षण को लेकर भी था विवाद

गौरतलब है कि टुआमैन कंपनी के टेक्निकल हेड सपन डे की 19 मई को बाइक सवारों ने गोली मार कर हत्या कर दी थी। इस मामले में पुलिस ने छह लोगों को गिरफ्तार करने के साथ मुख्य साजिशकर्ता के रूप में राकेश डब्बू के नाम का खुलासा किया था। भाजपा के कई बड़े नेताओं के साथ डब्बू के होर्डिंग-पोस्टर पहले से लगते रहे थे। खुलासे के बाद एक दूसरे विधायक के साथ फोटोग्राफ वायरल होने पर उन्हें संरक्षणदाता बताते हुए विवाद उठ गया था। डब्लू ने जिले के बाहुबली विधायक पर तोहमत लगायी थी जिसके बाद ताजा घटनाक्रम से आरोप-प्रत्यारोप का दौर फिर शुरू हो सकता है।

admin

No Comments

Leave a Comment