आजमगढ़। अमृतसर (पंजाब ) में शुक्रवार की देर शाम विजयदशमी के दिन रावण दहन के समय हुई रेल दुर्घटना में रैसिंघपुर गांव (तहबरपुर) का निवासी राम मिलन की भी मौत हो गई। इस घटना की जानकारी परिजनों को देर शाम वहां रह रहे रिस्तेदारों द्वारा फोन और व्हाट्सएप के माध्यम से आयी फोटी के आधार पर पहचान हुई। अमृतसर रेल हादसे में आजमगढ़ के युवक की मौत की जानकारी मिलने पर परिवार में कोहराम मच गया। मृतक के पिता फेंकू निषाद जिन्हें दिखाई भी नही पड़ता। उन्होंने बताया कि अभी एक पखवारे पहले ही रोजी-रोटी की तलाश में घर से गया बेटा ही मेरा सहारा था। हम लोग बहुत गरीब हैं कह कर फफक पड़े, किसी तरह लोगों ने संभाला।

पेटिंग कर करता था परिवार का भरण-पोषण

बताया जाता है कि मृतक राम मिलन अमृतसर में ही रहकर पेंटिग का काम करता था, जिससे घर परिवार का गुजारा होता था। परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। रो-रोकर अर्धविक्षिप्त हुई मां लोगो से बार-बार यही कह रही है कि हमार लाल कटी गए। मृतक की पत्नी कविता व चार वर्ष के बच्चे का भी रो-रोकर बुरा हाल है। मृतक की पत्नी बार-बार अपने पति को याद कर फफक कर रो पड़ी, गर्भ में पल है दूसरा बच्चा अपने पिता को देख नहीं पायेगा, वहीं पत्नी रो-रो कर कह रही कि अब कैसे हमारा गुजारा होगा।

admin

No Comments

Leave a Comment