लखनऊ। बीएचयू हिंसा मामले पर यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ का कहना है कि इसमें बाहरी लोगों का हाथ था। इसे सुनियोजित तरीके से अंजाम दिया गया। सीएम योगी का मानना है कि इसे इसलिए बढ़ाया गया ताकि पीएम मोदी के विकास का एजेंडा प्रभावित हो सके। एक न्यूज चैनल से बात करते हुए सीएम योगी ने कहा, कि हमारे पास उन सभी लोगों की फेहरिस्त है, जो अराजकता फ़ैलाने में शामिल हैं। हमारे कैमरे में सभी के चेहरे कैद हैं।’ उन्होंने कहा, कि इसकी सूचना हमने पहले ही बीएचयू को दी थी, बावजूद इसके ऐसा हुआ।’

नहीं रखनी चाहिए थी संवादहीनता
योगी बोले, ‘हमने मामले की पूरी रिपोर्ट केंद्र सरकार को भेज दी है। जिस लड़की के साथ छेड़खानी हुई है, उसके साथ न्याय होगा। हम अभी मजिस्ट्रेट रिपोर्ट का इंतज़ार कर रहे हैं। यह मामला यूनिवर्सिटी कैंपस का है, इसलिए सरकार इसमें दखल नहीं कर सकती, लेकिन जितना हो सकेगा सरकार करेगी।’ सीएम ने कहा, कि विश्वविद्यालय प्रशासन को संवादहीनता नहीं रखना चाहिए थी।

admin

No Comments

Leave a Comment